नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। COVID-19: गले में ख़राश चिड़चिड़ापन पैदा करती है। हालांकि, ये कोरोना वायरस के शुरुआती कुछ लक्षणों में से भी है। गले में ख़राश के साथ सूखी खांसी का मतलब है वायरल संक्रमण, जिसका समय रहते इलाज न किया जाए तो कोफी बढ़ सकता है।   

घरेलू उपाय आज़माएं

कोरोना वायरस में फौरन इलाज की ज़रूरत होती है, हालांकि, कुछ ऐसे घरेलू उपाय हैं, जो आपको गले की ख़राश से राहत दे सकते हैं। हम आज आपको बता रहे हैं ऐसे 5 उपाय जो आपकी ऐसे समय में मदद कर सकते हैं।

अदरक और शहद

अदरक और शहद का मिश्रण बिल्कुल काढ़े की तरह करता है और कीटाणु और फैलते संक्रमण से लड़ता है। अदरक, गले की खराश को कम करता है, तो शहद में मौजूद एंटी-इंफ्लामेट्री गुण इम्यूनिटी को मज़बूत करते के साथ गले में राहत पहुंचाता है। अदरक और शहद का मिश्रण बलग़म को ख़त्म करता है, साथ ही गले में ख़राश पैदा कर रही तकलीफ को दूर करता है।

इसके लिए आपको चाहिए:

- अदरक ( कद्दूकस किया हुआ)

- कच्चा शहद

- ज़ैतून का तेल

- आटा

- टिशू/रुमाल

-गॉज़

- टेप

शहद और आटे मिला लें, फिर इसमें कद्दूकस किया हुआ अदरक और ज़ैतून के तेल की 2-3 बूंदें मिला लें। जब ये तैयार हो जाए, तो एक रुमाल या टिशू में इसे रखें। फिर गॉज़ और टेप की मदद से इसे सीने पर लपेट लें। इसे सोने से पहले लगाएं।

नमक के पानी से ग़रारे

नमक के पानी से ग़रारे से बेहतर उपाय और कुछ नहीं है। ऐसा करने से न सिर्फ गले की ख़राश से राहत मिलती है, बल्कि रोगाणु और वायरस भी खत्म होते हैं। इसे रोज़ाना कम से कम 3-4 दिनों तक करना चाहिए, उसके बाद ही आपको इसका असर देखने को मिलेगा।  

हालांकि, ये अभी तक सिद्ध नहीं हो पाया है कि नमक का पानी कीटाणु या फिर कोरोना वायरस को ख़त्म कर सकता है।

नमक का पानी गले में आई सूजन और ख़राश को कम कर सकता है। इसके लिए गुनगुने पानी में आधा बड़ा चम्मच नमक मिलाएं और ग़रारे करें। ध्यान रहे कि आप इसे निगले नहीं, बल्कि थूक दें। इसे दिन में 2-3 बार करें। याद रहे, कि गर्म पानी या नमक का पानी कोरोना वायरस को ख़त्म करने का तरीका नहीं है।

मुलैठी खाएं

मुलैठी एक आयुर्वेदिक जड़ीबूटी है, जिसे कई बार चाय में भी डाला जाता है। इसके अलावा कई लोग गले की ख़राश के लिए भी इसे खाते हैं। गले में ख़राश के वक्त खुजली से भी राहत दिलाती है मुलैठी। मुलैठी में ज़रूरी एंटी-वायरल गुण होते हैं, जो बीमारी फैलाने वाले वायरस को ख़त्म करती है।

सेब का सिरका भी है मददगार

एप्पल साइडर वेनेगर यानी सेब के सिरके में एंटी-इंफ्लामेट्री गुण होते हैं। यह गले में ख़राश से राहत देने में विशेष रूप से सहायक है क्योंकि इसमें मौजूद एसिड खराब बैक्टीरिया को फैलाने वाले संक्रमण को ख़त्म करने में मदद करती है, जिससे गले में सूजन होती है।

ख़राश से राहत पाने के लिए, गुनगुने पानी में एक बड़ा चम्मच सेब का सिरका मिला लें और इसे पी लें। स्वाद के लिए आप इसमें शहद भी मिला सकते हैं।

नारियल तेल

गले की ख़राश को दूर करने का ये एक पारंपरिक तरीका है। नारियल तेल को मुंह में करीब 20 मिनट तक रखने के बाद थूक देने से कीटाणु ख़त्म होते हैं। ये साथ ही नासिका मार्ग को भी साफ करता है। नारियल तेल गले को राहत पहुंचाता है और इसके साइड-इफेक्ट भी नहीं होते।

Disclaimer: इल लेख में दिए गए उपाय गले में ख़राश को दूर करने के लिए बताए गए हैं। हालांकि, ये उपाय कोरोना वायरस को ख़त्म नहीं कर सकते, लेकिन उसके लक्षणों में राहत ज़रूर दे सकते हैं। अगर आपको कोविड-19 के लक्षण महसूस होते हैं, तो फौरन डॉक्टर से संपर्क करें।

Posted By: Ruhee Parvez

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस