नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। सर्दी में धूप में बैठकर मूंगफली खाने का अपना ही मज़ा है। मूंगफली को गरीबों का मेवा भी कहा जाता हैं जिसे किसी भी आय के लोग आसानी से खरीद सकते हैं। मूंगफली के हेल्थ बेनेफिट की बात करें तो इसमें विटामिन, खनिज, एंटीऑक्सीडेंट, फैटी एसिड समेत कई अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो अच्छी सेहत के लिए जरूरी हैं। मूंगफली में मौजूद पोटैशियम, आयरन, जिंक और विटामिन-ई सेहत को ठीक रखते हैं, साथ ही सर्दी में बॉडी को गर्म भी रखते हैं।

मूंगफली स्किन से लेकर कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने में मददगार है। ये पाचन को ठीक रखती है, लेकिन आप जानते हैं कि इसका अधिक सेवन सेहत को नुकसान भी पहुंचाता है, खास कर कुछ बीमारियों में इसका सेवन करने से मर्ज़ बढ़ सकता है। आइए जानते हैं कि किन बीमारियों में लोगों को मूंगफली का सेवन नहीं करना चाहिए।

अस्थमा अटैक और थायराइड के मरीज़ करें परहेज़:

जिन लोगों को सांस लेने की समस्याएं जैसे अस्थमा अटैक और थायराइड की परेशानी है ऐसे लोग मूंगफली खाने से परहेज़ करें वरना परेशानी बढ़ सकती है।

एलर्जी है तो नहीं खाएं मूंगफली:

जिन लोगों को एलर्जी है वो मूंगफली खाने से परहेज़ करें। ज्यादा मूंगफली से हाथ-पैरों में खुजली, मुंह पर सूजन हो सकती है। थायराइड के मरीज़ इसका सेवन करेंगे तो उनकी स्किन पर रैशेज हो सकते हैं।

पाचन खराब रहता हैं तो मूंगफली से परहेज़ है जरूरी:

जिन लोगों का पाचन खराब रहता है वो मूंगफली से परहेज़ करें। मूंगफली का सेवन करने से आपका खराब पाचन और भी ज्यादा खराब हो सकता है। मूंगफली कब्ज, गैस, एसिडिटी और सीने में जलन जैसी शिकायत कर सकती है।

ज्वाइंट पेन बढ़ा सकती है मूंगफली:

जिन लोगों को ज्वाइंट में दर्द की शिकायत रहती है वो मूंगफली से परहेज़ करें। मूंगफली में मौजूद लेक्टिन दर्द या सूजन को कई गुना बढ़ा सकता है।

दिल के लिए खतरा बन सकती है:

मूंगफली में संतृप्त वसा पाई जाती है जो दिल की बीमारियों का कारण बन सकती है। मूंगफली में लेक्टिन भी बहुद अधिक मात्रा में पाया जाता है, जिसे आसानी से पचाया नहीं जा सकता। दिल के मरीज़ मूंगफली से परहेज़ करें। 

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Edited By: Shahina Noor