नाशपाती मौसमी फल है जो हर एक सीजन में अवेलेबल नहीं होता। विटामिन्स, मिनरल्स और फाइबर से भरपूर नाशपाती सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है। नाशपाती का जूस पीकर वात, पित्त और कफ जैसी कई तरह बीमारियां दूर होती है। खूबसूरती को लंबे समय तक रखना है बरकरार तो आज से ही रोजाना एक नाशपाती खाने की करें शुरूआत। 

शारीरिक शक्ति बढ़ाए

नाशपाती हमारी शारीरिक शक्ति को भी बढ़ाने में मदद करता है। रोजाना एक नाशपाती खाना शारीरिक शक्ति को बढ़ाता है साथ ही शरीर भी सुगठित बनाता है।

पथरी की समस्या करें दूर

जिन लोगों को पथरी है उन लोगों के लिए नाशपाती का सेवन बहुत ही लाभदायक है। उन्हें एक गिलास नाशपाती का रस रोज 2-3 सप्ताह तक पीना चाहिए, इसे पीने से पथरी गलकर निकल जाती है।

 

कब्ज का कारगर इलाज

जिन लोगों को कब्ज रोग है उनके लिए नाशपाती का सेवन बहुत ही लाभदायक है। कब्ज रोग से बचने के लिए रोगियों को काफी समय तक नाशपाती का सेवन करते रहना चाहिए। इससे पुराना कब्ज भी ठीक हो सकता है और आंतों में जमा मल भी बाहर निकल जाता है।

भूख न लगने की परेशानी हो दूर

अगर आपको भूख नहीं लगती हो तो नाशपाती का सेवन हमारे लिए बहुत ही लाभदायक है, आफको नाशपाती को काटकर उश पर सेंधा निमक और काली मिर्च डालकर खाना चाहिए। इसे खाने से भूख लगने लगेगी।

चर्मरोग से छुटकारा

अगर किसी को चर्मरोग है तो वह नाशपाती के तेल का भी प्रयोग कर सकता है। चर्मरोग से बचने के लिए नाशपाती का तेल दाद, खुजली वाले अंग पर लगाया जाता है। इसे लगाने से आराम भी मिलता है और सफेद स्किन उतरना भी बंद हो जाते हैं।

पेट के घाव में आराम

पेट के घाव होने पर औऱ फोड़े या जलन होने पर नाशपाती के रस तथा गूदे का सेवन किया जा सकता है। जिसे खाने के बाद हमारे अमाशय पर एक झिल्ली बन जाती है जिसके कारण पेट के घाव में आराम मिलता है।

त्वचा की खुश्की करें दूर

त्वचा की खुश्की को दूर करने के लिए हम नाशपाती के गूदे और रस का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए चेहरे पर नाशपाती का गूदा लगाना चाहिए और रोजाना एक गिलास जूस पीकर त्वचा की खुश्की दूर की जा सकती है।

रूप निखारने में मददगार

पकी हुई नाशपाती को कद्दूकस कर उसमें पिसी हुई पत्तियों को मिलाकर लेप बना लें। चेहरे को हल्के गर्म पानी से साफ करके इसे लेप को चेहरे पर लगाएं। 25 मिनट बाद टिश्यू पेपर से चेहरा साफ कर लें। ऐसा करने से चेहरे में बहुत अद्भुत निखार आता है।

एनीमिया की प्रॉब्लम से राहत

आयरन का स्त्रोत होने की वजह से नाशपाती हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाता है और एनीमिया से ग्रस्त रोगियों को सुरक्षा प्रदान करता है।

 

Posted By: Priyanka Singh