नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। सर्दी आते ही कई तरह की परेशानियां ज़ोर पकड़ लेती हैं। साइनस भी एक ऐसी परेशानी है जो सर्दी में ज्यादा परेशान करती है। वैसे तो साइनस के मरीज़ों को पूरे साल परेशानी का सामना करना पड़ता है, लेकिन यह परेशानी सर्दी में ज्यादा जोर पकड़ लेती है। ठंडी हवा में आते ही नाक जाम हो जाती है, कई बार इतनी ज्यादा परेशानी होती है कि सांस तक नहीं लिया जाता। साइनस इंफेक्शन नाक से जुड़ी एक ऐसी परेशानी है जो एलर्जी, बैक्टीरियल इंफेक्शन या कोल्ड की वजह से हो जाती है। साइनस की वजह से सीने में बलगम जमने लगता है जिससे सिर में दर्द रहता है और सांस लेने में भी तकलीफ महसूस होती है। इस परेशानी की वजह से चेहरे पर सूजन तक आ जाती है और खाने-पीने का स्वाद पता नहीं चलता। आप भी सर्दी में साइनस से परेशान हो रहे हैं तो हम आपको नैचुरोपैथी के कुछ घरेलू उपाय के बारे में बता रहे हैं जिन्हें अपना कर आप साइनस से होने वाली परेशानियों से निजात पा सकते हैं।

बंद नाक से छुटकार देगी स्टीम:

साइनस से छुटकारा पाने के लिए आप गर्म पानी की भाप लें। भांप लेने से सीने में जमा कफ बाहर निकलेगा, साथ ही नाक की सूजन भी कम होगी। भांप लेने से बंद नाक से छुटकारा मिलेगा।

हल्दी और अदरक का करें सेवन:

एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर अदरक साइनस में बेहद फायदा पहुंचता है। अदरक की तासीर गर्म होती है और इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट भी मौजूद होते हैं। हल्दी और अदरक का सेवन आप दूध के साथ या चाय में कर सकते हैं। 1 चम्मच शहद को ताजा अदरक के रस में मिलाकर दिन में 2 से 3 बार सेवन करने से भी साइनस में राहत मिलेगी। 

लहसुन है असरदार:

गर्म तासीर का लहसुन सर्दी में शरीर को गर्माहट देगा। इससे कफ से राहत मिलेगी। जिन लोगों को साइनस की समस्या रहती है नियमित रूप से लहसुन की 2-3 कलियों को भूनकर उनका सेवन करें।

गुनगुना पानी पीएं:

साइनस के मरीज़ सर्दी में गर्म पानी का सेवन करें, ठंडे पानी के इस्तेमाल से साइनस की समस्या बढ़ सकती है। गर्म पानी वज़न को कंट्रोल करेगा साथ ही बंद नाक और कफ से भी राहत दिलाएगा।

सूप का सेवन करें:

साइनस के मरीज़ सब्जियों का सूप और चिकन सूप का सेवन करें। इन सूप को बनाने के लिए आप फ्रेश हर्ब्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Edited By: Shahina Noor