नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। देश और दुनिया में डायबिटीज लोगों में सबसे ज्यादा पनपने वाली बीमारी बनती जा रही है। खानपान और लाइफस्टाइल में खराबी की वजह से यह बीमारी ज्यादातर लोगों को अपनी चपेट में ले रही है। यह बीमारी हमारे शरीर में पैक्रियाज के इंसुलिन का उत्पादन बंद करने या कम करने की वजह से होती है, जिससे ब्लड में ग्लूकोज का स्तर बढ़ने लगता है। अगर ग्लूकोज़ के स्तर को कंट्रोल नहीं किया जाए तो शुगर की बीमारी हो जाती है। 

शुगर टाइप-1 और टाइप-2 दो तरह की होती है। टाइप- 2 डायबिटीज वाले इनसान की बॉडी इंसुलिन का सही उपयोग नहीं कर पाती है और इस स्थिति को इंसुलिन प्रतिरोध कहा जाता है। टाइप 2 डायबिटीज ऐसी बीमारी है जिसके लक्षण धीरे-धीरे दिखते हैं। शुगर ऐसी बीमारी है जिसमें डाइट बेहद मायने रखती है। आइए जानते हैं कि टाइप-2 डायबिटीज के लक्षण कौन-कौन से हैं और उसे कंट्रोल करने के लिए डाइट में किन चीज़ों को शामिल करें।

टाइप-2 डायबिटीज के लक्षण:

टाइप-2 डायबिटीज के मरीज़ों को शुरूआत में ज्यादा प्यास और भूख लगती है। बार-बार पेशाब आना, वजन कम होना, थकान और आंखों में कम दिखाई देना प्रमुख लक्षण शामिल हैं।

टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल करने में मददगार फूड्सः

हरी सब्जियों का करें सेवन:

हरी सब्जियों में भरपूर मात्रा में विटामिन और मिनरल्स मौजूद होते हैं जो डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद हैं। टाइप-2 डायबिटीज़ को कंट्रोल करना चाहते हैं तो हरी सब्जियों को डाइट में शामिल करें।

मेथी के पानी का सेवन करें: 

टाइप 2 डायबिटीज के मरीज शुगर को कंट्रोल करने के लिए मेथी के पानी का सेवन करें। रोज़ाना सुबह एक गिलास पानी में करीब आधा चम्मच मेथी पाउडर मिलाकर पीने से ब्लड में शुगर लेवल कंट्रोल रहता है। 

केला को करें डाइट में शामिल:

कार्बोहाइड्रेट का बेस्ट स्रोत केले को टाइप-2 डायबिटीज के मरीज़ सीमित मात्रा में सेवन करें। दिनभर में आधा या एक केले का सेवन कर टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल में रखा जा सकता है। 

अमरूद रखता है शुगर कंट्रोल:

शुगर के मरीज़ों के लिए अमरूद का सेवन बेहद उपयोगी है। अमरूद में विटामिन ए, विटामिन सी और फाइबर भरपूर मात्रा में मौजूद होता है जो सेहत के लिए उपयोगी है। अमरूद को डाइट में शामिल कर शुगर लेवल को कंट्रोल किया जा सकता है। 

दालचीनी से करें शुगर को कंट्रोल:

शुगर के मरीज़ों के लिए दालचीनी का सेवन बेहद असरदार है, इसमें कई ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। दालचीनी वाला दूध पीने से टाइप-2 डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है।  

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Edited By: Shahina Noor

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट