नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। कोरोनावायरस की वजह से लगे लॉकडाउन में देश और दुनिया के ज्यादातर लोगों ने स्मार्टफोन के साथ सबसे ज्यादा वक्त गुजारा है। सुबह-शाम सोते जागते स्मार्ट फोन लोगों की सबसे बड़ी जरूरत बन गई है। लेकिन आप जानते हैं कि स्मार्टफोन का अडिक्शन आपको कई तरह की बीमारियों का शिकार बना रहा है। स्मार्टफोन का अत्यधिक इस्तेमाल करने से आंखों और दिमाग को तो नुकसान पहुंच ही रहा है साथ ही स्किन को भी यह नुकसान पहुंचा रहा है। महामारी के दौरान लोगों की निर्भरता स्मार्टफोन पर और भी ज्यादा बढ़ गई है।लोग घंटों स्मार्टफोन के साथ बीताते हैं, चूंकि लोगों का कहीं जाना नहीं होता। ऑफिस बंद हैं, कुछ जगह खुल रहे हैं तो भी वर्क फ्रोम होम हो रहा है, ऐसे में स्मार्टफोन पर सबसे ज्यादा लोग निर्भर होने लगे हैं।

स्मार्टफोन का इस्तेमाल हमेशा ही सेहत के लिए घातक होता है, इसM आइए जानते हैं कि स्मार्ट फोन का इस्तेमाल करने से कौन-कौन सी स्किन की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

मुहांसे (Acne):

आप जानते हैं कि आपका स्मार्टफोन टॉयलेट शीट से भी ज्यादा गंदा है। स्मार्टफोन के हर हिस्से में कीटाणुओं की भरमार होती है। चूंकि आप इसे कान में सटाकर बात करते हैं, इससे कीटाणु या जर्म शरीर के अन्य हिस्से जैसे चेहरे, नाक, कान इत्यादि पर आ जाते हैं और उस हिस्से को संक्रमित कर देते। इन कीटाणुओं से सबसे ज्यादा चेहरा प्रभावित होता है जिससे मुहांसे होने का खतरा सबसे अधिक होता है।

एलर्जी- (Allergies):

फोन के ज्यादा इस्तेमाल से गालों पर रेशेज आ सकते हैं। इसका मतलब है कि चेहरे पर एलर्जी हो सकती है। ज्यादातर फोन के केस में क्रोमियम और निकेल का इस्तेमाल होता है जो एलर्जी को बढ़ाता है और स्किन संबंधी बीमारियों को जन्म देता है।

समय से पहले झुर्रियां (Premature wrinkles):

स्मार्टफोन का ज्यादा इस्तेमाल करने से आंख के आसपास झुर्रियां दिखाई देने लगती है। इसके अलावा भौंह के बीच में सीधी लाइनें बनने लगती हैं।

फोन की नीली रोशनी (Phone light):

स्मार्टफोन का नीला प्रकाश प्रकाशबैंगनी UVA/UVB किरण से ज्यादा खतरनाक होता है। इसका सीधा मतलब यह है कि सूर्य के प्रकाश से एक घंटे में स्किन को जितना नुकसान होता है उससे कहीं ज्यादा फोन की ब्ल्यू लाइट नुकसान पहुंचाती है। इससे कई तरह की स्किन प्रोब्लेम सामने आती है।

इन सावधानियों का करें पालन

  • स्मार्टफोन को रोजाना एंटीबैक्टीरियल वाइप्स से साफ करें। जब भी फोन किसी दूसरे के हाथ में जाएं तो उसके तुरंत बाद इसे साफ करें।
  • कीटाणुओं से फोन को बचाना चाहते हैं तो इसका सबसे बेहतर उपाय यह है कि फोन को प्लास्टिक केस या प्रोटेक्टिव गार्ड में रखें।
  • फोन का इस्तेमाल करते समय इसे आंख से पर्याप्त दूरी में रखें। आंख के पास कूलिंग इफेक्ट वाली क्रीम लगाएं।
  • इसका आसान उपाय यही है कि फोन का कम से कम इस्तेमाल करें। ज्यादा देर फोन पर न रहें। अगर ज्यादा देर फोन पर रहें तो फोन को डार्क या नाइट मोड में कर दें। 

                       Written By: Shahina Noor

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप