इंटरनेट से लेकर दादी-नानी के घरेलू नुस्खों तक में सौंदर्य बढ़ाने के लिए नींबू के इस्तेमाल पर जोर दिया जाता रहा है। तो फायदेमंद भी होता है इसमें कोई शक नहीं। लेकिन किसी भी चीज़ की अधिकता नुकसानदायक होती है ऐसा ही नींबू के साथ भी है। चेहरे की झाइयां दूर करने से लेकर ऑयली स्किन से छुटकारा और रंगत निखारने में बेशक नींबू का अलग-अलग तरीकों से इस्तेमाल किया जाता है। कभी शहद के साथ तो कभी दही के साथ। लेकिन, क्या आप जानते हैं फायदों के साथ ही स्किन पर लगातार नींबू का रस लगाने के कुछ साइड इफेक्ट्स भी होते हैं? जरा गौर करें इस ओर...

स्किन की रंगत बदल जाना

जी हां,  इसे आप पॉजिटिव और निगेटिव दोनों तरह से ले सकते हैं। नींबू के रस को चेहरे पर लगाने से अनइवेन स्किन टोन की प्रॉब्लम हो सकती है। इसलिए सांवले और डार्क स्किन टोन वालों को रोज़ाना नींबू के रस के इस्तेमाल से बचना चाहिए।एक्ने की समस्या

चेहरे पर पहले से अगर पिम्पल्स हैं तो नींबू के इस्तेमाल से बचें क्योंकि इससे ये और ज्यादा हाइलाइट हो सकते हैं। नींबू के रस में एसिड की मात्रा ज्यादा होती है। जिसकी वजह से पिम्पल्स फट जाते हैं और उनमें से खून निकलने लगता है।

सनबर्न प्रॉब्लम

नींबू का रस स्किन को सेंसिटिव बना देता है। इसीलिए, अगर आप बाहर जाने वाले हैं तो इसके इस्तेमाल से बचें। क्योंकि सूरज की किरणें सेंसिटिव स्किन को नुकसान पहुंचाती हैं और सनबर्न जैसी प्रॉबलम भी हो सकती हैं।

बदल सकता है स्किन का पीएच लेवल

नींबू के रस में एसिड की मात्रा होती है इसलिए इसे चेहरे पर लगाने से स्किन के प्रोटेक्टिव लेयर को नुकसान पहुंच सकता है और यह पीएच लेवल को भी बदल देता है। जिस वजह से इरीटेशन और हाइपरपिगमेंटेशन की समस्या हो सकती है। तो बहुत ज्यादा इस्तेमाल न करें।

Pic credit- freepik 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप