जागरण संवाददाता, चाईबासा : झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड (जेवीवीएनएल) के एमडी राहुल पुरवार ने विद्युत विभाग में किए जा रहे विभिन्न कार्यो की समीक्षा बुधवार को परिसदन में की। इसके बाद बताया कि चाईबासा और चक्रधरपुर की बिजली व्यवस्था अक्टूबर तक ठीक कर लिया जाएगा। इसके बाद दोनों जगहों के साथ -साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी निर्बाध बिजली आपूíत बहाल हो पाएगी।

परिसदन में एमडी राहुल पुरवार ने विद्युत विभाग द्वारा किए जा रहे विभिन्न कार्यो की समीक्षा कर रहे थे। समीक्षा में विद्युत विभाग के जीएम तथा अभियंता प्रमुख के अलावा चाईबासा- चक्रधरपुर और जमशेदपुर के विभाग के आला अधिकारी उपस्थित थे। उन्होंने बताया कि निर्बाध बिजली आपूíत के लिए 20 नए पावर सब स्टेशन बनाए जा रहे है ताकि आपूíत आने वाले विद्युत में पावर कट की समस्या न हो। रिग सिस्टम को लाया जा रहा है ताकि सब स्टेशन को किसी एक ग्रीड से मिलने वाला लाईन यदि बाधित हो जाए तो दूसरे ग्रीड से जोड़ कर पावर आपूíत किया जा सके। इससे शहर या ग्रामीण क्षेत्र में पावर कट की समस्या नहीं रहेगी। पावर के ज्यादा आपूíत होने से विभाग को लॉस कम होगा। उन्होंने बताया कि अभी विभाग का लॉस 22 फीसद है। उसे कम कम कर 15 फीसद तक लाने का काम किया जा रहा है। इस मौके पर उपायुक्त अरवा राजकमल भी उपस्थित थे।

जिले में चल रही योजनाएं

-शहरी क्षेत्र चाईबासा के महत्वपूर्ण जगहों पर 4.5 से 5 किलो मीटर 11 हजार केवीए का अंडर ग्राउड वायरिग किया जाएगा।

-33 केवीए पुराने तारों को बदलने का काम किया जा रहा है।

-नोवामुंडी तथा चक्रधरपुर में दो ग्रीड का निर्माण किया जाएगा।

-15 अगस्त तक हर घर में मीटर लग जाएगा।

- 20 नए पावर सब स्टेशन का निर्माण किया जा रहा है ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में निर्बाध बिजली आपूíत हो सके।

- गुदड़ी प्रखंड के सभी गांव में पावर आपूíत के लिये काम किया जा रहा है।

- विभाग की जो भी कमियां है उसे दूर कर शत प्रतिशत विद्युत आपूíत की जाएगी।

- पावर स्टेशन में लगने वाले एवी स्वीच को पॉलिमर का लगाया जाएगा ताकि पावर कट कम हो और लोगों को बेहतर परिणाम मिले।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Edited By: Jagran