जागरण संवाददाता,चाईबासा। नक्सलियों द्वारा लगाए गए आईईडी की चपेट में आने से बुधवार को मुफस्सिल थाना अंतर्गत अंजदबेड़ा गांव में सीआरपीएफ के सब इंस्पेक्टर इंसार अली घायल हो गए। बीते 15 दिन के अंदर सुरक्षा बलों के ये 11वें जवान हैं, जो नक्सलियों के द्वारा लगाए गए आईईडी की चपेट में आने से घायल हुुए हैं। गौरतलब है कि टोंटो, मुफस्सिल और गोइलकेरा थाना क्षेत्र के जंगलों में नक्सलियों ने चप्पे-चप्पे पर आईईडी बम लगा रखा है। बुधवार को सुरक्षाबलों के द्वारा सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा था इसी दौरान अंजदबेड़ा गांव के पास जंगल में आईडी की चपेट में आने से इंसार अली घायल हो गए, जिन्‍हें बेहतर इलाज के लिए हेलीकॉप्टर के माध्यम से रांची भेज दिया गया है। जवान की हालत स्थिर बनी हुई है।

सुरक्षा बलों पर है नक्‍सलियों की नजर

इस संबंध में जानकारी देते हुए चाईबासा के पुलिस अधीक्षक आशुतोष शेखर ने कहा कि कोल्हान क्षेत्र में भाकपा (माओवादी) नक्सलियों के बड़ी संख्या में उपस्थित होकर किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की प्राप्त सूचना के आलोक में चाईबासा पुलिस, कोबरा 209, 203 बटालियन, झारखण्ड जगुआर एवं सीआरपीएफ 60, 174, 197 बटालियन की एक संयुक्‍त टीम ऑपरेशन चला रही है। इसी क्रम में बुधवार को प्रातः लगभग 8 बजे मुफस्सिल थानान्तर्गत ग्राम जोजोहातु से अंजदबेड़ा के बीच सुरक्षा बलों को लक्षित करने के उद्देश्य से नक्सलियों द्वारा एक आईईडी का विस्फोट किया गया, जिसकी चपेट में आने से सीआरपीएफ 197 बटालियन के एसआई इंसार अली जख्मी हुए है।

घायल जवान का चल रहा इलाज

सर्च ऑपरेशन के दौरान उसी क्षेत्र में एक अन्य जिन्दा पाईप बम बरामद किया गया है, जिसे सुरक्षा बलों एवं बम निरोधक दस्‍ते ने नष्‍ट कर दिया। पुलिस बल द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस मुख्यालय, झारखण्ड, रांची एवं सीआरपीएफ झारखण्ड सेक्टर, झारखण्ड रांची के सहयोग से हेलीकॉप्टर के माध्यम से तत्काल प्राथमिकी उपचार के पश्चात जख्मी पदाधिकारी को बेहतर इलाज के लिए रांची ले जाया गया, जहां उनका इलाज किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें- 1 करोड़ के इनामी नक्‍सली मिसिर बेसरा व अनल को पकड़ने टोंटो के जंगलों में घुसे 400 जवान, इन्‍हें ढूंढ़ना चुनौती

 

Edited By: Arijita Sen

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट