जागरण संवाददाता, चाईबासा : चाईबासा बस स्टैंड के दिन बहुत जल्दी बहुरने वाले हैं। इसको लेकर नगर परिषद चाईबासा की ओर से कवायद शुरू कर दी गई है। इस बार का बस स्टैंड रांची-खादगाड़ा के मॉडल के रूप में तैयार किया जाएगा। इसको लेकर सोमवार को नगर परिषद कार्यपालक पदाधिकारी अभय कुमार झा, बस ऑनर एसोसिएशन के उपाध्यक्ष मोहम्मद बारीक के अलावा पारा मॉम कंसलटेंस लिमिटेड के इंजीनियर ने सरकारी बस स्टैंड व प्राइवेट बस स्टैंड का निरीक्षण किया। मौके पर कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि इस बार दोनों बस स्टैंड को मिलाकर एक बनाया जाएगा, ताकि यह सारी सुविधाओं से युक्त रहे। नए बस स्टैंड में यात्रियों की सुविधा के लिए बैठने, दो बड़े-बड़े हॉल, महिला-पुरुष के लिए अलग-अलग शौचालय, शुद्ध पेयजल, प्रत्येक गाड़ी को खड़ा करने के लिए रूट नंबर के साथ स्टैंड रहेगा। किस नंबर स्टैंड से कहां के लिए बस जाएगी, यात्रियों को तुरंत जानकारी हो जाएगी। ऐसे में यात्रियों को रांची व टाटा जाने के लिए बस पकड़ने में थोड़ी दिक्कत होती है। साथ ही मॉल, दुकानें, यात्रियों के ठहरने के लिए गेस्ट हाउस, स्वच्छ एवं सुंदर रेस्टोरेंट सहित आज के युग की सारी व्यवस्था सुसज्जित रहेगी। दोनों बस स्टैंड को मिलाकर लगभग डेढ़ एकड़ जमीन है। चाईबासा बस स्टैंड से बिहार, बंगाल, ओडिशा सहित अन्य जगहों के लिए रोजाना बसे अपने निर्धारित समय पर रवाना होती है। कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि इसका डीपीआर बनाकर जल्द नगर विकास विभाग रांची को भेजा जाएगा। वहां से स्वीकृति आने के बाद तुरंत शिलान्यास किया जाएगा, ताकि 2020 में नया बस स्टैंड बनकर तैयार हो जाए। बता दें कि चाईबासा बस स्टैंड को शहर से बाहर बनाने की प्रक्रिया चल रही थी लेकिन बस ऑनर एसोसिएशन के उपाध्यक्ष मो. बारीक के प्रयास से पुराने ही बस स्टैंड का जीर्णोद्धार किया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस