सिमडेगा : नवजात शिशु की समुचित देखभाल व इसके प्रति लोगों को जागरूक बनाने के उद्देश्य से बुधवार को समाहरणालय सभाकक्ष में सरकारी विभाग के पदाधिकारी व गैर सरकारी संगठन के सदस्यों की बैठक हुई। इस दौरान मुख्य रूप से 15 नवंबर से प्रारंभ हुए नवजात शिशु सप्ताह को सफल बनाने पर चर्चा हुई। बैठक का संचालन संस्था साउथ बिहार वेलफेयर सोसाइटी फॉर ट्राइबल की सचिव अनिमा बा: के द्वारा किया गया।

मौके पर उपस्थित सिविल सर्जन डॉ. बेनेदिक्त मिंज ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में पारंपरिक दवा के इस्तेमाल के अभ्यस्त होने के कारण लोग सरकारी स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ नहीं उठा पाते हैं। कई बार अज्ञानता के कारण जन्म के तुरंत बाद शिशु की मौत हो जाती है। इसपर विराम लगाने के लिए गांव में एएनएम एवं सहिया द्वारा स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाई जा रही है। लोग भी आगे आकर अपने अधिकार का इस्तेमाल कर रहे हैं। एसी सूर्य प्रकाश ने कहा कि शिशु सप्ताह को सफल बनाने में ग्राम सभाएं महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकती हैं, क्योंकि ग्रामसभा एक ऐसी सभा है जहां तमाम प्रकार की समस्याओं व मुद्दों पर चर्चा होती है। वहीं संस्था के अनिमा बा: ने भी सभी नवजात शिशु सप्ताह को सफल बनाने में सभी विभाग से उचित सुझाव व सहायता देने की अपील की। मौके पर सीओ एजाज अनवर, डीपीआरओ शिवनंदन बड़ाइक, सिस्टर सरोज, अन्ना लकड़ा, चतुर मांझी, ओस्कर डुंगडुंग आदि उपस्थित थे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस