संवाद सहयोगी, साहिबगंज : बजट सत्र के दौरान गुरुवार को राजमहल विधायक अनंत ओझा ने कार्यस्थगन के माध्यम से सदन को बताया कि साहिबगंज जिला सहित झारखंड के सभी सीमावर्ती जिलों में प्राकृतिक संसाधनों यथा पत्थर, बालू, लौह अयस्क एवं अन्य खनिज संपदा का उत्खनन और अवैध कारोबार बड़े पैमाने पर बदस्तूर जारी है। इसे विधानसभा अध्यक्ष ने सदन में पढ़कर सुनाया। विधायक ने कार्यस्थगन के माध्यम से सदन को बताया कि दो मार्च को सदन के अंदर बोरियो विधायक लोबिन हेंब्रम ने साहिबगंज जिला के केवल बिहार राज्य की सीमा पर अवस्थित चेकनाका के संबंध में सदन को अवैध गतिविधि की जानकारी दी। किस प्रकार से सुनियोजित तरीके से राज्य के प्राकृतिक संसाधनों खनिज संपदा की लूट हो रही है। जल, जंगल और जमीन की लूट की पूरी कहानी विधानसभा में दी। आश्चर्यजनक है कि जल, जंगल और जमीन की बात करने वाली वर्तमान यूपीए सरकार के शासन में इस प्रकार की बदस्तूर लूट जारी है। प्रशासनिक मिलीभगत एवं सता संरक्षण में चल रहे गतिविधियों से अरबों रुपये राजस्व की क्षति हो रही है। राजमहल विधायक अनंत ओझा ने कार्यस्थगन के माध्यम से इस गंभीर विषय पर चर्चा की मांग की है।

-----------------

शून्य काल में उठा इंजीनियरिग कॉलेज का मामला

राजमहल विधायक ने कहा- पूर्ववर्ती सरकार में स्वीकृति के बाद भी नहीं हुआ काम प्रारंभ

संस,साहिबगंज: राजमहल विधायक अनंत ओझा ने शुक्रवार को विधानसभा के बजट सत्र के दौरान शून्यकाल में साहिबगंज में इंजीनियरिग कॉलेज का मामला उठाया। विधायक ने कहा कि साहिबगंज जिला, संथाल परगना प्रमंडल के सुदूरवर्ती क्षेत्र में स्थित है। इंजीनियरिग महाविद्यालय की स्थापना की मांग स्थानीय छात्र -छात्राएं 10 वर्षों से करते आ रहे हैं। क्योंकि तकनीकी शिक्षा प्राप्त करने हेतु बाहर जाना पड़ता है। इंजीनियरिग महाविद्यालय के निर्माण की स्वीकृति पूर्ववर्ती सरकार में देने के बावजूद आजतक निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं हो सका है। साहिबगंज में इंजीनियरिग महाविद्यालय की स्थापना हेतु अविलंब निर्माण कार्य प्रारंभ कराया जाए।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट