संवाद सहयोगी, साहिबगंज : साहिबंगज रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नबंर एक स्थित जीआरपी कार्यालय के पास शुक्रवार को मालदा डीआरएम यतींद्र कुमार ने बाल सहायता केंद्र के कार्यालय का फीता काट कर उद्घाटन किया। यहां डीआरएम ने कहा कि साहिबगंज स्टेशन परिसर में चाइल्डलाइन केंद्र खुलने से यहां से गुजरने वाले बच्चों व महिलाओं को काफी सहायता मिलेगी। चाइल्ड लाइन के सदस्यों को अब से काफी सतर्क रहना है। बच्चों की सुरक्षा एवं सहयोग के लिए हमेशा सतर्क व तत्पर रहना है। अभियान चलाकर बच्चों की तस्करी पर अंकुश लगाने का निर्देश दिया। समन्वयक अमन कुमारी ने कहा कि स्टेशन परिसर में यह चाइल्ड लाइन कार्यालय 24 घंटा खुला रहेगा। अगर किसी को यात्रा के दौरान मानव तस्करी की सूचना मिले, कोई गुमशुदा, अकेला,बीमार बच्चा, मुसीबत में फंसा बच्चा मिले तो तुरंत इनकी सूचना हेल्पलाइन नंबर-1098 पर दें ताकि समय रहते वैसे बच्चों का सहयोग किया जा सकें। मौके पर टीम की सदस्य प्रियंका कुमारी, दीपक कुमार, जुली टूडू, मनोज कुमार, कुंदन कुमार पासवान, अंजेला बास्की, उपेंद्र सिन्हा, श्वेता कुमारी, नीना सिन्हा व वोलेंटियर शौफ उमर, रंजीत कुमार आदि थे।

----------------

समस्याओं के समाधान का मिला आश्वासन

संवाद सहयोगी, साहिबगंज : वन महोत्सव में भाग लेने आए डीआरएम यतींद्र कुमार को राजमहल विधायक अनंत ओझा रेलवे से जुड़ी समस्याओं से अवगत कराया। डीआरएम ने उन समस्याओं के समाधान का आश्वासन दिया। विधायक अनंत ओझा ने कहा कि साहिबगंज-तीनपहाड़ लंबित ओवरब्रिज का शीघ्र निर्माण कार्य शुरू किया जाना चाहिए। विधानसभा में भी यह मामला उन्होंने उठाया था। बजट सत्र के दौरान सरकार की ओर से सकारात्मक उत्तर भी आया था मगर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाई। साहिबगंज की पहचान रेलवे से ही है। इसलिए स्टेशन परिसर का सुंदरीकरण होना चाहिए। लालबंद से मोहनपुर तक पीडब्ल्यूडी पथ बनकर तैयार है। सड़क तीनपहाड़-राजमहल रेल लाइन को क्रास करती है। उन्होंने रेल प्रबंधक और साहिबगंज उपायुक्त से आग्रह किया कि साहिबगंज में जो भी रेलवे का कार्य लंबित हैं उसे जल्द ही प्रशासनिक स्वीकृति दिलाकर शीघ्र ही निर्माण कार्य शुरू कराएं।