बरहेट (साहिबगंज) : प्रतिपक्ष के नेता व झामुमो के बरहेट से विधायक हेमंत सोरेन के गैरजिम्मेदाराना बयान से लोगों में आक्रोश है। बता दें कि शुक्रवार की शाम कुछ छात्रों ने बिजली समस्या का निदान करने के लिए हेमंत सोरेन का घेराव किया। छात्र नेता मोहम्मद सद्दाम ने कहा कि बरहेट में पिछले एक सप्ताह से बिजली नहीं है। इसी मुद्दे पर छात्र हेमंत सोरेन से वार्ता करने गये थे, लेकिन विधायक ने उनलोगों को जवाब दिया कि बरहेट के लोगों ने उन्हें वोट नहीं दिया। बिजली रहे या न रहे इससे उन्हें कोई मतलब नहीं। ऐसे बयान से छात्रों को काफी निराशा हुई। छात्र अर्जुन दास, अनुपम दत्ता कहते हैं कि विधायक अपनी जिम्मेदारियों से बचना चाहते हैं। लोगों की समस्या पर ध्यान नहीं देते। आशीष पांडेय, मनोज कुमार, तुषार दत्ता ने कहा कि यहां के छात्रों की पढ़ाई बिजली नहीं रहने से ठीक से नही होती है। पानी व मोबाइल सेवा भी काफी लचर है। विधायक हेमंत सोरेन को स्थानीय समस्याओं से कोई लेना-देना नहीं है। छात्रों को उच्च शिक्षा की पढ़ाई के लिए बरहड़वा जाना पड़ता है। सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की कमी है। इसके लिए स्थानीय विधायक पहल नहीं कर रहे। इससे लोगों में आक्रोश है।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट