पदमा (हजारीबाग) (जागरण संवाददाता)। Jharkhand Crime News : हजारीबाग (Hazaribagh) जिले में पदमा ओपी पुलिस (Padma OP Police) की टीम ने बुधवार देर रात तस्करी (Smuggling) के लिए ले जाई जा रही छह महिलाओं, दो पुरुषों, 10 किशोरियों व दो बच्चों समेत 20 लोगों को मुक्त कराया है। इन सभी को बस के माध्यम से तमिलनाडु (Tamilnadu) ले जा रही महिला तस्कर (Momen Smugglers) को भी गिरफ्तार (Arrest) कर लिया गया है।

महिला मानव तस्कर बरामद:

बताया जा रहा है कि गुरुवार को बजरंग दल की सूचना पर पुलिस ने रांची जा रही मंत्री बस में छापेमारी की। यहां पुलिस ने एक महिला मानव तस्कर समेत छह महिलाओं, दो पुरुषों, 10 नाबालिग तथा दो बच्चों को बरामद कर लिया है।

महिला के खिलाफ अवैध मानव तस्करी का प्राथमिकी दर्ज:

मुक्त कराए गए लोग चतरा के मयूरहंड और हजारीबाग के चौपारण क्षेत्र के हैं, जबकि महिला तस्कर सुदामा देवी भी चौपारण की है। पुलिस ने महिला के खिलाफ अवैध मानव तस्करी सहित अन्य विभिन्न धाराओं में प्राथमिकी दर्ज करते हुए उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। वहीं छुड़ाए गए सभी बच्चों को उज्जवला चाइल्ड लाइन को सौंपा गया है। वहां से इन्हें विधिवत प्रक्रिया पूरी करने के बाद उनके घर भेज दिया जाएगा।

कोयंबटूर (तमिलनाडु) ले जाया जा रहा था:

मुक्त कराई गई महिलाओं ने बताया कि अच्छे घरों में काम दिलाने का भरोसा दिलाकर उन्हें कोयंबटूर (तमिलनाडु) ले जाया जा रहा था। वे बहुत गरीब हैं और उनके पास जीविका का साधन नहीं हैं। गुरुवार देर रात तक पदमा ओपी प्रभारी विकर्ण कुमार, बरही महिला थाना प्रभारी अलिशा कुमारी प्राथमिकी की प्रक्रिया में जुटे थे।

बरामद लोगों को बाल कल्याण केंद्र को सौंपा गया:

प्रभारी ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर बुधवार की रात एनएच 33 पर वाहन चेकिंग कर 20 लोगों के साथ एक संदिग्ध महिला तस्कर को बरामद किया गया। बरामद लोगों को बाल कल्याण केंद्र (सीडब्लूसी ) हजारीबाग को सौंपा गया है।

Edited By: Sanjay Kumar