पतरातू थर्मल (रामगढ़), जासं। बीते तीन दिनों से लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के कारण रामगढ़ के पतरातू डैम के जलस्तर में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है। डैम अपने अधिकतम जल भंडारण क्षमता के करीब पहुंच गया है। आपात स्थिति को देखते हुए शुक्रवार की रात्रि पतरातू डैम के दो फाटकों को डेढ़-डेढ़ फीट खोलकर 15000 क्यूसेक प्रति सेकेंड की रफ्तार से पानी छोड़ा जा रहा है। बावजूद इसके भारी बारिश के कारण डैम का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। इसके कारण शनिवार की सुबह दो और फाटकों को खोलकर जल स्तर को सामान्य करने का प्रयास किया जाएगा।

पतरातू डैम के मुख्य जलस्रोत नलकारी नदी में तेज बहाव को देखते हुए फाटकों की संख्या को और बढ़ाया जा सकता है। ज्ञात हो कि पतरातू डैम में पानी निकासी के लिए कुल आठ फाटक बनाए गए हैं। वही पतरातू डैम के जलस्तर में अचानक वृद्धि के कारण डैम किनारे खड़ी कई नावें लापता हो गई। शनिवार रातः से ही नाविक अपने-अपने नावों की तलाश में जुटे हैं।

रामगढ़ प्रशासन की ओर से बताया गया है कि लगातार बारिश के चलते नलकारी जलाशय पतरातू (पतरातू डैम) का जलस्तर 1328.5 फीट तक पहुंच गया है। इसे देखते हुए पतरातू डैम का एक गेट शुक्रवार रात्रि 11:30 बजे खोला जाएगा। गेट को 6 इंच तक खोला जाएगा। इसके माध्यम से 250 क्यूसेक प्रति सेकेंड की रफ्तार से जल की निकासी होगी। इस दौरान आम जनों की सुरक्षा के मद्देनजर जिला प्रशासन रामगढ़ द्वारा तीव्र गति से नलकारी नदी के आसपास स्थित गांव में रह रहे लोगों को नदी के आसपास ना जाने आदि के प्रति जागरुक करने का कार्य किया जा रहा है।

Edited By: Sujeet Kumar Suman