Move to Jagran APP

उम्र महज 18 साल, बने हैं डिजिटल मार्केटिंग के मास्टर; आप भी मिलिए रांची के अफजल अनीस से

Jharkhand News. पिछले दो सालों में ही देश की कई बड़ी कंपनियां इनकी क्लाइंट बन गईं हैं। अनीस बताते हैं कि वो रोज नई सफलता के लिए अपनी टीम के साथ प्रयास करते हैं।

By Sujeet Kumar SumanEdited By: Published: Sun, 07 Jun 2020 11:45 AM (IST)Updated: Mon, 08 Jun 2020 01:27 AM (IST)
उम्र महज 18 साल, बने हैं डिजिटल मार्केटिंग के मास्टर; आप भी मिलिए रांची के अफजल अनीस से

रांची, [मधुरेश नारायण]। रांची के 18 वर्षीय युवक अफजल अनीस कम उम्र में ही डिजिटल मार्केटर के रूप में खुद को स्थापित कर तकनीक और व्यवसाय की दुनिया में नजीर पेश कर रहे हैं। यूं तो अफजल ने इसी साल कॉमर्स स्ट्रीम से 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण की है, लेकिन वेब मार्केटिंग और इंटरनेट व सोशल मीडिया के बेहतर इस्तेमाल की उनकी समझ के बड़े-बड़े मुरीद हैैं। इतनी कम उम्र मेें भी वह डिजिटल मार्केटिंग की रणनीतियों की गहरी समझ रखते हैैं। अब यह उनका व्यवसाय भी बन चुका है।

loksabha election banner

उनकी सेवाएं लेने वालों में कंपनियों के अलावा फिल्म निर्माता, कलाकार, लेखक और विचारक भी शामिल हैैं। अनीस खास मार्केटिंग और तकनीकी स्ट्रेटजी के तहत इनके प्रोडक्ट को प्रभावी तरीके से लोगों तक पहुंचाते हैैं। एक तरह से यह नए तरीके का प्रचार माध्यम है, जो लोगों को खूब भा रहा है। अनीस बताते हैैं कि कई आइएएस और आइपीएस अधिकारी भी अपने विचारों के निजी प्लेटफॉर्म के प्रमोशन के लिए उनकी सेवाएं ले रहे हैैं। सेवा के अनुसार उनकी फीस 10 हजार से एक लाख रुपये तक है।

डिजिटल मार्केटर अफजल अनीस

  • रांची के 18 वर्षीय डिजिटल मार्केटर अफजल अनीस के बड़े-बड़े हैैं मुरीद
  • 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद ही शुरू कर दिया उद्यम
  • कंपनियों को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर कर रहे प्रमोट
  • उद्यमियों के अलावा फिल्म निर्माता, कलाकार, लेखक व अफसर भी ले रहे सेवाएं

अफजल कहते हैैं जमाना डिजिटल का है। हर कोई डिजिटल हो रहा है। ऐसे में सभी चाहते हैैं कि उनके प्रोडक्ट को इंटरनेट और सोशल मीडिया पर बढ़ावा मिले। डिजिटल मार्केटिंग में सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन, गूगल एडवर्ड को इस्तेमाल कारके उन्होंने कई लोगों को उनका प्रोडक्ट आगे बढऩे में मदद की है।

ऐसे हुई शुरुआत

रांची के डोरंडा के रहनेवाले अफजल अनीस ने 12वीं की परीक्षा वाणिज्य विषय के साथ पास की है। अनीस बताते हैं कि वह बचपन से ही काफी टेक्नोफ्रेंडली थे। शुरू से ही कंप्यूटर, मोबाइल और इंटरनेट पर ज्यादा ध्यान था। मोबाइल और इंटरनेट पर गेम खेलने में भी उन्हें काफी मजा आता था। रांची स्थित धुर्वा के केराली स्कूल से 10वीं और 12वीं की पढ़ाई करने के दौरान भी उन्हेंं स्कूल लेवल पर कई पुरस्कार मिले हैं।

इसे देखते हुए उनके पिता गुरेज अनीस ने उन्हेंं एक लैपटॉप गिफ्ट किया। 11वीं के पहले टर्म की परीक्षा के बाद वो अपने भाई के पास ग्रेटर नोएडा गए, जहां उन्होंने अपने दिन के खाली वक्त में कई बड़े डिजिटल मार्केटिंग प्लेटफॉम प्रोवाइडर की वीडियो देखी। इसके बाद प्रभावित होकर इस पेशे में कदम बढ़ाने की ठानी। इस काम में आगे बढऩे में मां रजिया खातून ने भी हौसला बढ़ाया।

अपने काम को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने विभिन्न प्रकार के उद्योगों के व्यवसाय को आगे बढ़ाने के लिए डिजिटल मार्केटिंग रणनीतियों का उपयोग करना शुरू किया। पिछले दो सालों में ही दर्जनों नामी गिरामी उद्यमी, पेशेवर व अन्य लोग इनके क्लाइंट बन गए हैैं। अपनी सेवाएं देने के लिए अफजल ने ग्रावमो डिजिटल के नाम से एक कंपनी बनाई है। कुछ दिनों पहले जब उन्होंने कंपनी बनाई थी तब वह 18 वर्ष के कम उम्र के थे इसलिए उनकी कंपनी रजिस्टर्ड नहीं हो सकी थी, इस कारण उन्होंने अपनी कंपनी भारत सरकार के डिजिटल इंडिया स्टार्ट अप के प्लेटफॉम पर रजिस्टर्ड किया।

टीम के साथ बनाते हैैं रणनीति

अनीस बताते हैं कि वो रोज अपनी टीम के साथ स्ट्रेटजी पर काम करते हैैं। इससे कंपनियों के साथ उन्हेंं भी फायदा होता है। हर उद्योग के लिए अलग-अलग रणनीति बनानी पड़ती है। जैसे ऑनलाइन सामान लेने से पहले ज्यादातर लोग उसकी रिव्यू और स्टार रेटिंग चेक करते हैं। ये भी डिजिटल मार्केटिंग का एक हिस्सा है।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.