कटकमसांडी (हजारीबाग), जासं। हजारीबाग में शुक्रवार देर शाम करीब साढ़े आठ बजे के करीब छड़वा डैम के नवनिर्मित पुल पर राहगीरों ने एक विचित्र मानव को चहलकदमी करते देखा। इस विचित्र लंबे कद के मानव, जो देखने में महिला जैसी लग रही थी, को देखकर आने जाने वाले राहगीर व बाइक चालक सहम गए। विचित्र मानव की आकृति देखकर भयभीत बाइक सवार बदहवास भागने लगे, तो कुछ राहगीरों ने आनन-फानन में अपना रास्ता बदल लिया और अपने गंतव्य की ओर जाने लगे। इसके साथ ही तरह-तरह की चर्चाओं का बाजार भी गर्म हो गया।

किसी ने इसे भूत-पिशाच व चुड़ैल कहा तो किसी ने एलियन की संज्ञा दे डाली। लोगों ने यह भी आशंका जाहिर की कि पुल के समीप नदी में शमशान स्थल है। यहां मुर्दे जलाए जाते हैं। साथ ही कब्रगाह भी है, जहां हिन्दुओं द्वारा शव को दफनाया जाता है। लोगों को कहना है कि डैम में डूबकर बहुतों की असामयिक मृत्यु हुई है। शायद उन्हीं में से किसी की आत्मा भटक रही हो। बहरहाल, इस विचित्र मामले को लेकर राहगीरों में खौफ का माहौल है।

विहिप कार्यककर्ताओ ने दी गौ-समाधि

हजारीबाग रोड में गुरुवार को तेज हवा और बारिश के दौरान बिजली के तार गिर जाने से एक गाय की मौत हो गई थी। यह गाय बरहीडीह निवासी नरेश सिंह की थी। विहिप के प्रखंड अध्यक्ष नंद किशोर कुमार ने बताया कि शुक्रवार को मृत गौमाता को विहिप कार्यकर्ताओं ने विधिवत रूप से अंतिम संस्कार कर समाधि दी। समाधि देने में विश्व हिंदू परिषद प्रखंड अध्यक्ष नंद किशोर कुमार जिला सह मंत्री गुरूदेव गुप्ता प्रखंड मंत्री कैलाश ठाकुर, बजरंग दल संयोजक प्रदीप चंद्रवंशी, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से सुनील सोनी, प्रदीप केशरी, रिंकू कुमार, जेसीबी के ऑपरेटर पप्पू साहू शामिल थे।

मृतकों का प्रमाण पत्र निर्गत करने की मांग

कोरोना की दूसरी लहर में जिले में बड़ी संख्या में लोगों की कोरोना संक्रमण के कारण मौत हुई है। इस क्रम में शेख भिखारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में जिन संक्रमितों की मौत हुई है, उनके परिजनों को अब तक अस्पताल प्रबंधन की ओर से मृत्यु प्रमाण पत्र निर्गत नहीं किया गया है। इसकी वजह मृतकों के परिजनों के द्वारा आवेदन के साथ बीएचटी की छाया प्रति संलग्न नहीं करना बताया जा रहा है। इस संबंध में सीपीएमआई के जिला सचिव गणेश कुमार सीटू ने मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक को ज्ञापन सौंपकर कोविड से मृत लोगों को तत्काल मृत्यु प्रमाण पत्र निर्गत कराने की मांग की है। साथ ही काफी दिनों से खराब पड़ी कोविड संक्रमण की जांच मशीन आरटी पीसीआर को तत्काल ठीक कराने की भी मांग की है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप