लोहरदगा, जासं। झारखंड से बड़ी खबर है। यहां नक्‍सलियों ने लोहरदगा जिले में अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराई है। जिले के सुदूरवर्ती किस्को थाना क्षेत्र के पाखर में हिंडाल्को कंपनी द्वारा संचालित बाक्साइट माइंस में भाकपा माओवादी संगठन के नक्सलियों ने दर्जनभर वाहनों को फूंक डाला। पाखर माइंस में बीकेबी और बालाजी कंपनी द्वारा उत्खनन कार्य में लगे 9 पोकलेन और 4 कम्प्रेशर वाहन को भाकपा माओवादी के हथियार बंद नक्सलियों द्वारा आग लगा दी गई।

इस घटना से कंपनी को लगभग 8 करोड़ रुपए की क्षति का अनुमान लगाया जा रहा है। नक्सली वारदात मंगलवार देर रात लगभग 11.15 बजे की है। नक्सली घटना की सूचना मिलने के बाद दल-बल के साथ एसपी प्रियंका मीना घटनास्थल पहुंच चुकी है। एसपी के साथ स्थानीय पुलिस अपनी ओर से नक्सली वारदात का सत्यापन करते हुए आगे की कार्रवाई में जुट गई है। घटना की पुष्टि एसपी प्रियंका मीणा ने की है।

एसपी का कहना है कि फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हो रहा है कि वाहन जलाने की घटना को माओवादियों ने अंजाम दिया है। पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच करते हुए आगे कार्रवाई में जुटी है। सूत्रों की मानें तो भाकपा माओवादी संगठन का कुख्यात नक्सली रिजनल कमांडर रविन्द्र गंझु दस्ता के 30-40 की संख्या में हथियारबंद नक्सली पाखर बाक्साईट माइंस स्थित बीकेबी और बालाजी के साईट पर पहुंचे।

जहां पर उत्खनन कार्य में लगे बीकेबी कंपनी के 4 पोकलेन और 2 कम्प्रेशर तथा बालाजी के 5 पोकलेन और 2 कम्प्रेशर को बारी-बारी से नक्सलियों ने आग लगा दी। जिसके बाद बहुत ही आराम से नक्सली वहां से चले गए। वाहनों में आग लगाने की घटना लेवी से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है, पर इस मामले में फिलहाल कुछ स्पष्ट रूप से कहने को तैयार नहीं है।

लोहरदगा में लंबे समय के बाद पाखर बाक्साईट माइंस में नक्सली घटना से क्षेत्र में खौफ का माहौल बन गया है और लोग डरे-सहमें हैं। नक्सली वारदात के बाद बाक्साईट उत्खनन कार्य ठप पड़ गया है। लॉकडाउन की वजह से लंबे समय तक माइंस में उत्खनन और परिवहन कार्य बंद पड़ा था, जो शुरू होते हीं नक्सली कार्रवाई के बाद एक बार फिर से बंद हो गया। इस नक्सली घटना से बॉक्साइट व्यवसाय के लिए बड़ी क्षति है।

बॉक्साइट माइंस में नक्सलियों ने दर्जन से अधिक वाहनों को फूंका, 5 करोड़ का नुकसान

लोहरदगा जिले के सुदूरवर्ती किस्को थाना क्षेत्र के पाखर बाक्साइट माइंस  में बीकेबी और बालाजी कंपनी द्वारा  उत्खनन कार्य में लगे चार पोकलेन, दो कम्प्रेशर सहित कई वाहनों को भाकपा माओवादी नक्सलियों द्वारा आग लगा दी गई है। इस घटना से लगभग 8 करोड़ रुपए की क्षति का अनुमान लगाया जा रहा है।यह घटना मंगलवार देर रात लगभग 11:15 बजे की है।

भाकपा माओवादी नक्सलियों द्वारा घटना को अंजाम देने की आशंका

घटना की सूचना लोहरदगा पुलिस को भी मिल चुकी है। इसके बाद पुलिस अपनी ओर से मामले के सत्यापन और आगे की कार्रवाई में जुट गई है। घटना की पुष्टि एसपी प्रियंका मीणा ने की है। एसपी का कहना है कि फिलहाल बीकेबी के दो और बालाजी के एक पोकलेन को आग लगाए जाने की जानकारी मिली है। फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हो रहा है कि इस घटना को माओवादियों ने अंजाम दिया है। पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच करते हुए आगे कार्रवाई कर रही है।

एसपी ने घटना की पुष्टि की, कहा-फिलहाल नक्सली घटना को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं

बताया जा रहा है कि दर्जनभर की संख्या में हथियारबंद भाकपा माओवादी नक्सली पाखर के बीकेबी और बालाजी माइंस में पहुंचे। जहां पर नक्सलियों ने उत्खनन कार्य में लगे पोकलेन में आग लगा दी। इसके बाद नक्सली वहां से चले गए। घटना लेवी से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है। हालांकि इस मामले में फिलहाल कोई कुछ स्पष्ट कहने को तैयार नहीं है। लंबे समय के बाद नक्सली घटना से खौफ का माहौल बन गया है। लॉकडाउन की वजह से लंबे समय तक माइंस में उत्खनन और परिवहन कार्य बंद पड़ा हुआ था। इसी बीच नक्सलियों द्वारा की गई कार्रवाई बॉक्साइट व्यवसाय के लिए बड़ी क्षति है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस