नई दिल्‍ली, जेएनएन। प्रकृति की गोद में बसे रांची शहर को बेहतर बनाने का कारवां चल पड़ा है। शहर को जाम से मुक्त करना अब यहां के अफसरों और कार्यदायी संस्थाओं का प्रमुख एजेंडा है।'माय सिटी माय प्राइड अभियान' के तहत स्थानीय लोगों, संस्थाओं और सरकारी अमले की सहभागिता में शहर के 11 महत्वपूर्ण मुद्दों पर काम शुरू हो गया है। ये मुद्दे 29 सितंबर को आयोजित फोरम में जनता के सामने रखे गए, जहां लोगों ने इन मुद्दों के समाधान का संकल्प लिया। फोरम में समाधान के लिए चुने गए मुद्दों में सबसे ज्यादा इन्फ्रास्ट्रक्चर के हैं।

शहर की बेहतरी के 11 समाधान
1. शहर को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए अभियान चलाया जाएगा। (संरक्षक- परिवहन, पथ निर्माण और यातायात विभाग)
2. शहर को साफ-सुथरा बनाने और लोगों को जागरूक करने के लिए चलेगा अभियान। (संरक्षक- युवा दस्ता/ रोटरी क्लब और लायंस क्लब)
3. शक्ति ऐप के जरिए महिलाओं को 24 घंटे मिलेगी सुरक्षा। (संरक्षक- रांची पुलिस/शक्ति ऐप)
4. शहर को सुरक्षित बनाने के लिए सीसीटीवी कैमरों से निगरानी होगी। (संरक्षक- यातायात विभाग)
5. शहर के अस्पतालों में ब्लड की कमी को पूरा किया जाएगा। (संरक्षक- लाइफ सेवर्स संस्था)
6. गरीबों और मजलूमों को सस्ती दवाएं उपलब्ध कराने के लिए बनेंगे मेडिसिन बैंक (संरक्षक- रोटरी क्लब)
7. गरीब बच्चों को शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए अभियान चलेगा। (संरक्षक- सीसीएल कंपनी)
8. शहर की आबोहवा को बेहतर बनाने के लिए पौधे लगाए जाएंगे। (संरक्षक- रोटरी क्लब)
9. जल का संचयन समय की जरूरत है। कॉलोनियों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग लगाए जाएंगे, ताकि पानी की बचत की जा सके। (संरक्षक- रामकृष्ण मिशन)
10. झरनों के शहर को पहचान दिलाने के लिए फिल्म शूटिंग को बढ़ावा दिया जाएगा। (संरक्षक- पर्यटन विभाग)
11. अनीमिया की स्थिति में महिलाओं को लगातार जांच और सही दवाइयों की जरूरत होती है, इसे सुनिश्चित किया जाएगा। (संरक्षक- आईएमए)

By Krishan Kumar