जागरण संवाददाता, रांची। सामाजिक संस्था लायंस क्लब ऑफ क्वींस ने सेवा कार्यों से समाज में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। क्लब की महिलाएं सालभर में शहर में शिक्षा, स्वास्थ्य, महिला स्वास्थ्य, जागरूकता व जरूरतमंदों के सहयोग को लेकर अभियान व शिविर चलाती रहती हैं। क्लब की ये क्वींस सेवा कार्यों से समाज में बदलाव की कोशिश में जुटी हैं।

स्वास्थ्य और टीकाकरण के अलावा कई सामाजिक गतिविधियां
क्लब की ओर से लगातार मोतियाबिंद जांच व ऑपरेशन, नेत्र जांच, ब्लड डोनेशन कैंप व अन्य स्वास्थ्य शिविर लगाकर लोगों के उपचार कराए जाते हैं। इसके अलावा महिलाओं व बच्चों के स्वास्थ्य के लिए भी लगातार शिविर लगाए जाते हैं। बच्चों के नियमित टीकाकरण में क्लब अभियान चलाकर अहम भूमिका निभाती है। अभी मिजल्स रूबैला के टीकाकरण में भी क्लब की महिलाएं बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रही हैं। जागरूकता के लिए स्कूली बच्चों के साथ मिलकर रैलियां भी निकाली जा रही हैं। इसके अलावा समय-समय पर पौधरोपण, स्कूलों में पठन-पाठन सामग्री का वितरण, अनाथ बच्चों के बीच खाना वितरण, आदि गतिविधियां चलाई जाती हैं। आज से 10 वर्ष पूर्व क्लब की स्थापना चार्टर प्रेसिडेंट लायन सोनिया सुहासिनी ने की थी। उसी दिन से क्लब सेवा में तत्पर है। क्लब के सदस्य सर्दियों के मौसम में गरीब बच्चों की बस्ती मे स्वेटर, कंबल आदि भी लोगों को उपलब्ध करवाती हैं।

रोटी बैंक की शुरुआत
क्लब की सदस्यों द्वारा हाल ही में हर बुधवार और शनिवार रांची के चौक चौराहों पर जरूरतमंदों के बीच रोटी वितरण शुरू किया गया है। इसके पीछे क्लब की सोच है कि कोई भी व्यक्ति भूखे पेट न रहे। इस रोटी बैंक को काफी सराहना भी मिल रही है।
अभी क्लब मे 40 सदस्य हैं। क्लब की सचिव मीरा साहू, कोषाध्यक्ष रजनी नेरुला, पूर्व अध्यक्ष पायल जैन के अलावा मनीषा मिढ़ा, सकून विजय, पायल किंगर, ज्योति जैन, पूजा खंडेलवाल, गिन्नी वाधवा, लीना गिरधर, निधि पपनेजा, मंजुला जैन, रीतू, टीना सुलेजा आदि अपनी सेवा दे रही है।

By Gaurav Tiwari