जागरण संवाददाता, रांची : आध्यात्मिक जागरण के साथ रामकृष्ण मिशन आश्रम रांची समेत पूरे झारखंड में लोगों के सर्वांगीण विकास की दिशा में उल्लेखनीय काम कर रहा है। 1927 से ही यह आश्रम योग, संस्कृति, परंपरा वैदिक और आध्यात्मिक ज्ञान से लोगों को रूबरु करा रहा है। स्वामी रामकृष्ण परमहंस और स्वामी विवेकानंद के दिव्य ज्ञान, संदेश और विचारों से बिहार व झारखंड के लोगों को अवगत कराने के लिए इस आश्रम की स्थापना की गई थी। 

तब से ही यह योग, ध्यान और उपासना के साथ साथ आध्यात्मिक उत्थान के बड़े केंद्र के रूप में काम कर रहा है। आश्रम की ओर से रामकृष्ण मिशन स्कूल, विवेकानंद स्कूल, विवेकानंद विश्वविद्यालय नाम से कई स्कूल-कॉलेज और विश्वविद्यालय चलाए जा रहे हैं, जिसमें बच्चों और युवाओं को आधुनिक ज्ञान के साथ साथ नैतिक शिक्षा भी दी जाती है। इन स्कूल-कॉलेजों में आवासीय सुविधा के साथ साथ सभी तरह की जरूरी सुविधाएं छात्रों को उपलब्ध कराई जाती हैं। अच्छे रिजल्ट, अनुशासन और बेहतर शिक्षा के लिए भी ये शिक्षण संस्थान जाने जाते हैं।

ग्रामीणों को खेती और रोजगार से जोडऩे की दिशा में कर रहे हैं काम
रांची के गेतलसूद में दिव्यायन नाम से रामकृष्ण मिशन आश्रम की ओर से एग्रीकल्‍चर डिमोंस्ट्रेशन सेंटर चलाया जा रहा है। यहां आधुनिक तरीके से खेती कर आसपास के ग्रामीणों को रोजगार से जोड़ने की दिशा में उल्लेखनीय काम किए जा रहे हैं। किसानों को गोबर और केंचुआ खाद बनाने से लेकर उन्नत तरीके से खेती, मछली पालन, कुक्कुट पालन, रेशम कीट पालन, मधुमक्खी पालन, बकरी पालन आदि का प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार से जोड़ा जा रहा है। वहीं तुपुदाना सेनीटोरियम में आश्रम की ओर से डेयरी में दूध उत्पादन कर लोगों को शुद्ध दूध उपलब्ध कराया जाता है। डेयरी के माध्यम से ग्रामीणों को रोजगार से भी जोड़ा गया है।

टीबी समेत सभी बीमारियों का नि:शुल्क इलाज

रामकृष्ण मिशन तुपुदाना मे मिशन की ओर से तपेदिक के इलाज के लिए विशेष अस्पताल खोला गया है। इसके अलावा यहां ओपीडी में सभी प्रकार की बीमारियों का बहुत कम शुल्क में इलाज किया जाता है। यहां तपेदिक का नि:शुल्क इलाज किया जाता है। साथ ही अस्‍पतालों में मरीजों और परिजनों को दवा, भोजन भी नि:शुल्क उपलब्ध कराया जाता है।दूर-दूर से लोग यहां इलाज कराने आते हैं

सरकार के साथ मिलकर योजनाओं में सहभागी
आश्रम झारखंड सरकार के साथ मिलकर भी योजनाओं में सहभागी बन रहा है। लोगों को जागरूक करने से लेकर सड़क, बिजली, पानी, सामुदायिक भवन जैसी योजनाओं को सरकार के साथ मिलकर लोगों के लिए उपलब्ध कराया जा रहा है। सरकार की आदर्श पंचायत योजना भी रामकृष्ण मिशन आश्रम के सहयोग से ही चलाया जा रहा है। योग के उत्थान के लिए हाल ही में पूरे राज्य में आश्रम की ओर से योग जागृति रथ निकाला गया था। स्वयं सहायता समूहों का गठन कर लोगों को आत्मनिर्भर बनाया जाता है।

कई तरह के प्रशिक्षण दिए जाते हैं
आश्रम की ओर से कई तरह के प्रशिक्षण के कोर्स भी चलाए जाते हैं। इनमें 45 दिनों के मोटिवेशनल ट्रेनिंग, स्प्रिचुअल ट्रेनिंग और स्पेशल ट्रेनिंग प्रमुख हैं। इन प्रशिक्षणों के माध्यम से लोगों को जीवन के मूल्यों से अवगत कराते हुए उच्च कोटि के गुण विकसित करने की कोशिश होती है।

गांवों को गोद लेकर विकास
रामकृष्ण मिशन की ओर से अबतक दर्जनों गांवों का गोद लेकर विकास कराया जा चुका है। इन गांवों में सड़क, बिजली, पानी, शिक्षा, स्वास्थ्य की सुविधाएं बहाल कराने के अलावा सौर ऊर्जा संयंत्र भी लगाए गए हैं। गेतलसूद के कई गांवों में विशेष तकनीक से पहाड़ से पानी उतारकर उन्हें खेती के उपयोग में लाया गया है।

स्वामी भवेशानंद,
सचिव, रामकृष्ण मिशन आश्रम, रांची।

By Krishan Kumar