इचाक (हजारीबाग), संसू। Jharkhand Crime News झारखंड के हजारीबाग जिले के इचाक प्रखंड में बीते दिन एक दिल दहला देने ने वाली वारदात घटित हुई। जानकारी के अनुसार, हजारीबाग जिले के इचाक निवासी दिव्यांग मिथिलेश मेहता ने महिंद्रा फाइनेंस से कर्ज पर ट्रैक्टर लिया था। समय पर किस्त चुका नहीं पाये तो ट्रैक्टर लेने पहुंचे रिकवरी एजेंटों ने किसान की युवा गर्भवती पुत्री मोनिका को ट्रैक्टर से कुचल कर मार डाला। बताया जाता है कि जब मोनिका ने खुद को महिंद्रा फाइनेंस का जोनल मैनेजर बताने वाले शख्स से उसकी आईडी मांगी तो उसने गुस्से में चालक को उसे ट्रैक्टर से रौंदने का हुक्म दे दिया। विदित हो कि मोनिका ग्रेजुएट थी।

मोनिका कुमारी।

बताया जाता है कि यह घटना इचाक थाना क्षेत्र के बरियठ गांव स्थित एनएच 33 पर हुई। जिसमें 21 वर्षीय मोनिका कुमारी (पति कुलदीप कुमार मेहता) ग्राम डुमरौंन निवासी की मौत रिम्स रांची ले जाने के क्रम में रास्ते में हो गई।

यह घटना गुरुवार दोपहर की है। घटना के बाद से क्षेत्र में भारी शोक और आक्रोश का माहौल व्याप्त है।  घटना से आक्रोशित ग्रामीणो ने दूसरे दिन शुक्रवार को हजारीबाग के इन्द्रपुरी चौक स्थित महिन्द्रा फाइनेंस के समक्ष शव के साथ धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं।

क्या है पूरा घटनाक्रम...

मिली जानकारी के अनुसार, मृतका के पिता सिझुआ गांव निवासी मिथिलेश प्रसाद मेहता ने वर्ष 2018 में महिंद्रा फाइनेंस से ट्रेक्टर खरीदा था। छह किस्त जमा नहीं करने के कारण फाइनेंस कंपनी के एजेंटों ने सिझुआ भारत पेट्रोल पम्प के पास खड़ी ट्रेक्टर को गुपचुप तरीके से गुरुवार दोपहर को ले जाने लगे।

इसकी सूचना मिलने पर मिथिलेश मेहता ने अपनी बेटी मोनिका कुमारी को साथ लेकर मोटरसाइकिल पर बैठाकर पीछा किया एवं बरियठ के पास ट्रेक्टर को रोकने का प्रयास किया और मोनिका ने जोनल मैनेजर से आईडी मांगी। इस दौरान फाइनेंस कंपनी के मैनेजर बैगनआर कार संख्या जेएच 02 बीडी 5605 से उतरकर ट्रेक्टर को बढ़ाने का इशारा किया। इसी बीच ट्रेक्टर का पहिया युवती के कमर पर चढ़ गया, जिससे मोनिका घायल हो गई।

आनन फानन में घायल युवती को एचएमसीएच हजारीबाग ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने स्थिति गंभीर देखते हुए घायल को रिम्स रेफर कर दिया। रांची के रिम्स ले जाते समय रामगढ़ पहुचते ही युवती ने दम तोड़ दिया। उसकी मृत्यु की खबर सुनते ही ससुराल डुमरौंन एवं मायके सिजुआ गांव के ग्रामीण शोक में डूब गए। दोनों गांव में मातम छा गया।

वहीं, दूसरे दिन शुक्रवार को शव के पोस्टमार्टम होने के बाद हजारीबाग इन्द्रपुरी चौक स्थित महिंद्रा फाइनेंस कार्यालय के पास युवती का शव रख कर मृतका के परिजन धरना पर बैठ गए है। ग्रामीणो की मांग है कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए और परिजनों को समुचित मुआवजा दिया जाए।

Edited By: Sanjay Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट