रांची, राज्य ब्यूरो। पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी की पार्टी झारखंड विकास मोर्चा की परेशानी थमने का नाम नहीं ले रही है। लोकसभा चुनाव में करारी हार तथा पार्टी के दिग्गज नेता प्रदीप यादव पर पार्टी की ही महिला नेत्री द्वारा गंभीर आरोप लगाए जाने के बाद पार्टी फूट की ओर अग्रसर है। पार्टी के केंद्रीय प्रवक्ता योगेंद्र प्रताप सिंह बुधवार को भाजपा में शामिल होंगे।
बकौल सिंह, उनकेसाथ झाविमो के कोषाध्यक्ष केके पोद्दार और अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष मुन्ना मलिक भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण करेंगे। बता दें कि पार्टी के ही एक अन्य विधायक प्रकाश राम को बाबूलाल मरांडी ने पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने की वजह से निलंबित कर रखा है। इधर, कांग्रेस ने भी झाविमो को पार्टी में विलय का न्योता दिया है


केके पोद्दार।

मुन्ना मलिक।
मोदी लहर के बावजूद 2014 के विधानसभा चुनाव में आठ सीटें झटक लेने वाले झाविमो के विधायकों में से छह ने चुनाव के कुछ ही दिनों बाद भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली थी। अब झाविमो की ही एक नेत्री द्वारा विधायक प्रदीप यादव पर बदसलूकी के आरोप के बाद वे भागे-भागे फिर रहे हैं। पहले निचली अदालत ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी थी। अब हाई कोर्ट ने भी उसे रद कर दिया।
ऐसे में माना जा रहा है कि उनकी कभी भी गिरफ्तारी हो सकती है। बताते चलें कि इस बार बाबूलाल ने स्वयं कोडरमा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से किस्मत आजमाई थी, परंतु राजद से भाजपा में शामिल हुईं अन्नपूर्णा देवी से भारी मतों से पराजित हो गए थे। ऐसे में अब झाविमो के अस्तित्व पर ही सवाल उठ खड़ा हुआ है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस