रांची, जेएनएन। बिहार से अलग हुआ झारखंड राज्‍य प्राकृतिक सुंदरता से लबरेज है। इसी प्राकृतिक सुंदरता के कारण इस राज्‍य के हर कोने में एक से एक दर्शनीय स्‍थल हैं। राज्‍य की राजधानी रांची इसमें सबसे आगे है। रांची शहर अपने में कई प्राकृतिक विरासत को समेटे हुए है। यहां देखने के लिए झरने, मंदिर, सुंदर दृश्‍य काफी कुछ हैं। आप यदि घूमने के शौकीन हैं तो आपको रांची जरूर घुमना चाहिए। पर्यटन के शौकीन और छुट्टी बिताने की योजना बना रहे लोगों के लिए हमने एक सूची बनाई है। इससे आप रांची को नजदीक से जान सकते हैं और इसकी प्राकृतिक सुंदरता काे देख सकते हैं।

रांची में घूमने के स्थान

जगन्नाथ मंदिर   

रांची झील

पत्थर बाग  

कांके डैम

सूर्य मंदिर   

टैगोर हिल

पहाड़ी मंदिर  

राजकीय संग्रहालय, होटवार

नक्षत्र वन

दशम जलप्रपात

जोन्हा जलप्रपात   

पतरातू घाटी

हुंडरू जलप्रपात   

बिरसा ज्‍यूलॉजिकल पार्क

पंचघाघ झरना

जगन्नाथ मंदिर, रांची

रांची का जगन्नाथ मंदिर पुरी के मंदिर के जैसा है। यह मंदिर शहर से 10 किमी दूर है। 17वीं सदी के इस मंदिर में हजारों पर्यटक आते हैं। यह शहर के लोकप्रिय स्थानों में से एक है। यहां आने का सबसे अच्छा समय रथ यात्रा के समय है। रथ यात्रा जून-जुलाई के महीने में आयोजित किया जाता है। यहां ऊपर चढ़ने के लिए आपको कई सीढ़‍ियां चढ़नी पड़ेगी। यहां से आप शहर का खूबसूरत नजारा देख सकते हैं। यहां आने का अच्छा समय सुबह से दोपहर तक और दोपहर बाद शाम तक है।

रांची झील, रांची

रांची झील या बड़ा तालाब शहर के बीच में स्थित है। इसका इतिहास है कि रांची झील की खुदाई 1842 में ब्रिटिश कर्नल ने की थी। एक शांत और सुकून भरा समय बिताने के लिए यह एक शानदार जगह है। झील के पास ही रांची पहाड़ी मंदिर के पास ही है। यह दोनों जगह एक साथ मिलकर शहर को एक खूबसूरत दृश्‍य प्रदान करता है। पहाड़ी मंदिर से शहर काे निहारना विहंगम दृश्‍य देता है।

कांके डैम, रॉक गार्डेन रांची

रॉक गार्डन रांची में सबसे अधिक देखे जाने वाले पर्यटन स्थानों में से एक है। यह गोंडा हिल की चट्टानों से निर्मित है और कांके बांध द्वारा एक छोटी पहाड़ी पर स्थित है। पहाड़ी पर से देखने से यह और भी अधिक आकर्षक नजर आता है। बगीचे में छोटे झरने, सुंदर मूर्तियां हैं, जो पिकनिक का आनंद लेने के लिए एक सुंदर वातावरण बनाती हैं। कांके डैम रॉक गार्डेन से सटा हुआ है। यहां दो स्‍थानों को एक साथ देखना खूबसूरत अहसास कराता है। शाम का समय और पिकनिक मनाने के लिए यह एक उम्‍दा जगह है। यहां आप सुबह से शाम तक आज सकते हैं।

सूर्य मंदिर, रांची

रांची का सूर्य मंदिर एक मनोरम जगह है। पहाड़ी की चोटी पर स्थित मंदिर का निर्माण विशिष्ट सूर्य मंदिर वास्तुकला में किया गया है। इसमें सात घोड़ों द्वारा खींचे गए 18 पहियों वाले विशाल रथ को दर्शाया गया है। सूर्य देव के अलावा इस मंदिर में कई अन्य हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियों को रखा गया है। इस मंदिर के परिसर में एक तालाब भी है जिसे पवित्र माना जाता है। यह रांची से 20 किमी दूर है। यहां सुबह से शाम तक आ सकते हैं। सूर्य मंदिर बुंडू में स्थित है। यह रांची से रांची-टाटा राजमार्ग पर 37 किलोमीटर की दूरी पर है। सफेद संगमरमर पत्थरों से रथ की आकृति में निर्मित इस मंदिर में 18 पहिए लगे हैं जो 7 घोड़ों से जुड़े हैं। रविवार के अलावा छठ पर्व के अवसर पर पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है।

टैगोर हिल, रांची

टैगोर हिल का नाम महान कवि रवींद्रनाथ टैगोर पर है। ऐसा माना जाता है कि उन्होंने यहां बहुत समय बिताया है। यह मुरादाबाद हिल के रूप में भी जाना जाता है। इस जगह से आप शहर के सुंदर दृश्यों और स्पष्ट नीले आसमान का आनंद ले सकते हैं। साहसिक चीजों का शौक रखने वालों के लिए यह पहाड़ी बहुत लोकप्रिय है। यहां आप रॉक क्लाइम्बिंग और ट्रैकिंग का प्रयास कर सकते हैं। पहाड़ी के आधार पर रामकृष्ण मिशन आश्रम, कृषि वोकेशनल इंस्टीट्यूट और दिव्यायन का केंद्र है।

पहाड़ी मंदिर, रांची

पहाड़ी मंदिर शहर का सबसे शानदार जगह है। यह 2140 फीट की ऊंचाई पर रांची पहाड़ी पर स्थित है। यहां साल भर शिव भक्तों की भारी भीड़ उमड़ती है। खासकर श्रावण महीने के दौरान यहां बड़ी भीड़ होती है। मंदिर भक्तों के बीच पूजनीय है। ऐसा माना जाता है कि उनकी इच्छाएं पूरी करने के लिए यहां शक्तियां हैं। पहाड़ी पर स्थित मंदिर तक पहुंचने के लिए करीब 400 सीढ़ि‍यां चढ़नी पड़ती है। यहां आप सुबह से दोपहर तक और दोपहर बाद शाम तक आ सकते हैं।

राज्य संग्रहालय होटवार, रांची

यह रांची संग्रहालय के रूप में जाना जाता है। राज्य संग्रहालय होटवार नृवंशविज्ञान प्रदर्शित करता है। यहां मौजूद हथियार और गोला बारूद, कलाकृतियां और आभूषण राज्य के इतिहास के बारे में बताती हैं। संग्रहालय में मूर्तिकला गैलरी है। इसमें आश्चर्यजनक टुकड़े और झारखंड भर के स्थापत्य स्थलों के दिलचस्प चित्रों का संग्रह है। राज्य के इतिहास की यात्रा के प्रति उत्साही लोगों के लिए यह ज्ञान का केंद्र है। यहां आने का समय सुबह 10:30 से शाम 4:30 तक (सोमवार को बंद) है।

नक्षत्र वन, रांची

नक्षत्र वन एक पार्क है। यह रांची में गवर्नर हाउस (राजभवन) के सामने स्थित है। यह नक्षत्रों की अनूठी अवधारणा पर बनाया गया है। पार्क को विभिन्न वर्गों में विभाजित किया गया है। इनमें से प्रत्येक एक राशि चक्र और आकाशीय पिंडों का प्रतिनिधित्व करता है। हिंदू ज्योतिषियों का मानना ​​है कि प्रत्येक नक्षत्र एक पेड़ से मेल खाता है जिसका औषधीय, सौंदर्य, सामाजिक और आर्थिक मूल्य है। संगीतमय फव्वारा और इसके आसपास के सुंदर रास्ते पार्क की सुंदरता को बढ़ाते हैं। यहां सुबह 9:30 से शाम 6:30 (सोमवार को बंद) तक आ सकते हैं।

दशम जलप्रपात, रांची

रांची शहर से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित दशम फॉल झारखंड में पर्यटकों के लिए सबसे लोकप्रिय स्थानों में से एक है। यह प्रकृति प्रेमियों के लिए एक खास जगह है। इस झरने की एक खासियत यह है कि जब यह अपनी अधिकतम महिमा पर होती है, तो आप पानी की 10 धाराओं को प्लंज पुल में गिरते हुए देख सकते हैं। धीरे-धीरे पर्यटन में वृद्धि के कारण यहां कई रेस्तरां और स्वच्छ टॉयलेट बनाए गए हैं। यहां की यात्रा पहले की तुलना में कहीं अधिक सुविधाजनक हो गई है। जंगल झाड़ के बीज सुरमई वातावरण में यहां कांची नदी का निर्मल जल 144 फीट की ऊंचाई से गिरती है। यह दृश्य भी मनोहारी है।

जोन्हा जलप्रपात, रांची

जोन्‍हा फॉल रांची शहर के लिए एक प्रतीक बन गया है। लुभावने रूप से सुंदर इस लटकती घाटी की पहली झलक अविस्मरणीय है। यहां आने के बाद इसकी यादें लंबे समय तक आपके साथ रहेगी। यहां हर दिन कई पर्यटकों द्वारा दौरा किया जाता है। यह अधिक भीड़ से दूर है और आप आसानी से किसी भी समय यहां का आनंद ले सकते हैं। यह झरना रांची से 43 किमी दूर है।

पतरातू घाटी, रांची

यदि आप लुभावनी और लंबी घुमावदार सड़कों से गुजरना चाहते हैं तो आपको पतरातू घाटी अवश्‍य आना चाहिए। यहां आकर आपकी छुट्टी परिपूर्ण बन जाएगी। रांची से घाटी तक ड्राइव हर बाइक प्रेमी के लिए खुशी का पल होता है। एस-टर्न, हेयरपिन और स्वूपिंग कॉर्नर और तेजस्वी विस्टा ड्राइव को और अधिक रोमांचक बनाते हैं। आपको पतरातू डैम पर भी रुकना चाहिए। यह पिकनिक के लिए एक शानदार जगह है। रांची से इसकी दूरी 34 किमी है।

हुंडरू फॉल्स, रांची

भारत के 50 सबसे ऊंचे झरनों में से एक रांची के हुंडरू फॉल्स को अपने यात्रा कार्यक्रम का हिस्सा जरूय बनाना चाहिए। यह क्षेत्र अपने सुंदर वैभव के साथ पर्यटकों को आकर्षित करता है। यह रांची में घूमने के लिए सबसे लोकप्रिय स्थानों में से एक है। खासकर मानसून के दौरान। रांची से इसकी दूरी 48 किमी है।

बिरसा जूलॉजिकल पार्क, रांची

यदि आप बच्चों के साथ यात्रा कर रहे हैं तो बिरसा जूलॉजिकल पार्क एक बेहतरीन जगह है। यह पार्क बाघ, शेर और हिरण सहित कई प्रकार की पशु प्रजातियों का घर है। यदि आप एक वन्यजीव उत्साही हैं, तो आप यहां से वन्यजीवों के बारे में सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। आप यहां पशु गोद लेने के कार्यक्रम का हिस्सा बन सकते हैं। चिड़ियाघर में प्रवेश द्वार पर एक छोटी सी कैंटीन है जो स्नैक्स और पेय पदार्थ परोसती है। इसकी रांची से दूरी 26 किमी है। यहां आने का समय सुबह 9:00 से शाम 4:30 तक (सोमवार को बंद) है। यहां प्रवेश शुल्क भी लगता है।

पंचघाघ जलप्रपात, रांची

रांची से 50 किमी दूर स्थित पंचघाघ जलप्रपात स्थानीय लोगों के बीच एक पसंदीदा स्थान है। यह पिकनिक स्थल के रूप में काफी लोकप्रिय है। झरने का नाम इस तथ्य से मिलता है कि यहां से पांच झरने गिरते देखे जा सकते हैं। यदि आप सप्ताह के अंत में यहां आते हैं, तो आप कई स्थानीय लोगों को सुंदरता और शांति के साथ आनंद लेते हुए देखेंगे। बच्चों के साथ यात्रा कर रहे हैं तो आपको यहाँ तक पहुँचने के लिए सीढ़ियाँ चढ़ने की आवश्यकता होगी।

रांची को जानें

रांची क्रिकेट, हॉकी, फुटबॉल, एथलेटिक्स सहित कई खेल गतिविधियों का एक केंद्र है। यह महेंद्र सिंह धौनी और दीपिका कुमारी जैसे प्रतिष्ठित खिलाड़ियों का गृहनगर है। रांची हवाई अड्डा या बिरसा मुंडा हवाई अड्डा बेंगलुरु, दिल्ली, भुवनेश्वर, मुंबई, हैदराबाद, इंदौर, कोलकाता और पटना सहित कई प्रमुख भारतीय शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। रांची जंक्शन रेलवे स्टेशन भारतीय रेलवे के दक्षिण पूर्व रेलवे जोन का मुख्यालय है और दिल्ली, कोलकाता और पटना के लिए यहां लगातार ट्रेन सेवा उपलब्‍ध है। रांची शहर की बोकारो, धनबाद, जमशेदपुर, गया, पटना और कोलकाता जैसे लोकप्रिय शहरों से अच्छी सड़क कनेक्टिविटी है। यह सभी 400 किमी के भीतर हैं। यहां कई माॅल हैं। इसके अलावा यहां रहने के लिए कई होटल उपलब्‍ध हैं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021