रांची, [मुजतबा हैदर रिजवी]। रांची के रेल कर्मियों समेत दक्षिण पूर्व रेलवे मंडल के सभी रेल कर्मचारियों व रिटायर्ड रेल कर्मचारियों को यूनिक मेडिकल आइडेंटिटी पोर्टल में रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इस पोर्टल में रजिस्ट्रेशन के बाद रेलकर्मी और रिटायर्ड रेल कर्मचारी देश के किसी भी रेलवे अस्पताल में अपना मुफ्त इलाज करा सकेंगे। इस पोर्टल में रजिस्ट्रेशन के बाद ही रेल कर्मियों को रेलवे अस्पतालों में इलाज और ओपीडी की सुविधा मिल सकेगी।

यह पोर्टल रेलवे ने हाल ही में लांच किया है। कर्मचारियों के अलावा रेलवे के रिटायर्ड कर्मचारियों को भी मेडिकल सुविधा लेने के लिए यूनिक मेडिकल आइडेंटिटी पोर्टल में रजिस्ट्रेशन कराना होगा। जो रेल कर्मचारी या पेंशन धारक यूनिक मेडिकल आइडेंटिटी पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन नहीं कराएंगे, उन्हें किसी भी रेलवे अस्पताल में इलाज की सुविधा नहीं मिलेगी। रेलवे बोर्ड का इस संबंध में आदेश रांची रेल मंडल पहुंच गया है।

गौरतलब है कि रेलवे ने रेल अस्पताल में मेडिकल सुविधा देने के लिए यूनिक मेडिकल आइडेंटिटी पोर्टल लांच किया है। इस पोर्टल में रेल कर्मचारियों और रिटायर्ड रेल कर्मचारियों दोनों को अपना पंजीकरण कराना है। इस पोर्टल में सारे रेल कर्मचारी अपना रजिस्ट्रेशन करा लें, इसलिए इसे अनिवार्य कर दिया गया है। दक्षिण पूर्व रेलवे जोन के सीनियर पर्सनल ऑफिसर जयदीप सेन गुप्ता ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। यह आदेश डीआरएम रांची अनिल अंबष्ट को भी भेज दिया गया है।

एक मार्च तक सभी को कराना होगा पोर्टल में रजिस्ट्रेशन

दक्षिण पूर्व रेलवे की तरफ से जारी इस पत्र के अनुसार सभी रेल कर्मियों को एक मार्च से पहले यूनिक मेडिकल आइडेंटिटी पोर्टल में अपना पंजीकरण करा लेना है। जो कर्मचारी इस पोर्टल में पंजीकरण नहीं कराएंगे, उन्हें एक मार्च के बाद रेलवे के किसी भी अस्पताल में मेडिकल सुविधा नहीं मिलेगी। एक मार्च के बाद से रेल अस्पतालों में उन्हीं रेल कर्मचारियों या रिटायर्ड रेल कर्मचारियों का इलाज किया जाएगा जो इस पोर्टल में पंजीकृत होंगे।

रेलवे मंडल पर होगी कार्यशाला

रेल कर्मचारियों को यूनिक मेडिकल आइडेंटिटी पोर्टल के बारे में बताने के लिए रांची रेल मंडल कार्यालय में एक कार्यशाला आयोजित की जाएगी। इस कार्यशाला का आयोजन जल्द ही होगा। कार्यशाला में न केवल यूनिक मेडिकल आइडेंटिटी के बारे में बताया जाएगा। बल्कि कर्मचारियों का इसमें पंजीकरण भी कराया जाएगा। रेल कर्मचारी अपने स्मार्टफोन या लैपटॉप व कंप्यूटर के जरिए इस पोर्टल में अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

रांची रेल मंडल के सात हजार कर्मचारियों को मिलेगा लाभ

रेलवे मेंस कांग्रेस के रांची रेल मंडल के उप मंडल संयोजक नित्या लाल कुमार ने बताया कि रेलवे का यूनिक मेडिकल आइडेंटिटी पोर्टल योजना काफी बेहतर है। रेल कर्मचारी देश के किसी भी रेल अस्पताल में आसानी से इलाज करा सकेंगे। उन्हें कोई दिक्कत नहीं होगी। रेलवे के यूनिक मेडिकल आइडेंटिटी पोर्टल से जुड़ने से रांची रेल मंडल के सात हजार कर्मचारियों को लाभ मिलेगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस