रांची, जासं। नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए देशभर में जारी लॉकडाउन के दौरान रांची में 40 विशेष दाल भात केंद्र खोले जाएंगे। बड़गाई, अरगोड़ा, हेहल और सदर अंचल के साथ जिले के सभी प्रखंडों में यह विशेष दाल भात केंद्र 2 महीनों के लिए खोले जाएंगे। उपायुक्त राय महिमापत रे ने बड़गाई, हेहल, अरगोड़ा और सदर अंचलाधिकारी के साथ जिले के सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को इस संबंध में निर्देश दिया है। सभी संबंधित पदाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र के चिन्हित स्थानों पर विशेष दाल भात केंद्र खोलने हेतु 31 मार्च तक प्रस्ताव देने को कहा गया है।

कहां कितने खोले जाएंगे विशेष दाल भात केंद्र

रातू प्रखंड-3

कांके प्रखंड-3

नगर निगम क्षेत्र बड़गांई- 2

नगर निगम क्षेत्र सदर रांची- 2

नगर निगम क्षेत्र अरगोड़ा -2

नगर निगम क्षेत्र हेहल- 2

सिल्ली प्रखंड - 2

ओरमांझी प्रखंड -2

नामकुम प्रखंड- 2

तमाड़ प्रखंड -2

मांडर प्रखंड- 2

चान्हो प्रखंड -2

बुंडू प्रखंड- 2

बेड़ो प्रखंड-2

सोनाहातू प्रखंड -2

बुढ़मू प्रखंड-2

नगड़ी प्रखंड- 1

राहे प्रखंड -1

लापुंग प्रखंड -1

इटकी प्रखंड- 1

अनगड़ा-1

खलारी प्रखंड -1

अब दाल-भात केंद्रों में मुफ्त में भरपेट भोजन

प्रदेश के लगभग एक हजार दाल-भात केंद्रों में लोगों को अब मुफ्त में भोजन करने को मिलेगा। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सह वित्त और खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉ. रामेश्वर उरांव ने विश्वव्यापी कोरोना वायरस-कोविड-19 के संभावित संक्रमण के संकट के बीच सोमवार को यह घोषणा की। उन्होंने इसके साथ ही बताया कि लॉकडाउन की अवधि में राज्य में संचालित मुख्यमंत्री दाल-भात कैंटीन में निश्शुल्क भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। कई केंद्रों के माध्यम से लोगों को वर्तमान में खिचड़ी उपलब्ध कराया जा रहा है।

खाद्य आपूर्ति मंत्री रामेश्वर उरांव ने बताया कि लॉकडाउन की अवधि में दाल-भात केंद्रों में भोजन करने वाले को पांच रुपये का शुल्क नहीं देना होगा। उन्होंने बताया कि संकट की इस घड़ी में गरीब और जरूरतमंद परिवारों को तत्काल राहत उपलब्ध कराने के लिए यह फैसला लिया गया है।

कांग्रेस के प्रदेश सदस्यता प्रभारी सह प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से निर्धन और जरूरतमंद लोगों की सुविधा के लिए थाना स्तर पर दो महीने के लिए 342 सामुदायिक किचन के अलावा 24 जिलों में 498 विशेष दाल-भात केंद्र संचालित करने का निर्णय भी पूर्व में ही लिया जा चुका है। इसके अलावा आपात स्थिति रांची जिले में 5000 आकस्मिक भोजन का पैकेट और अन्य सभी जिलों में दो-दो हजार पैकेट उपलब्ध कराया जा रहा है, ताकि किसी भी व्यक्ति को भूखा नहीं रहना पड़े।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस