लातेहार, जासं। ATM Card Frauds लातेहार सदर थाना क्षेत्र में पंचायत भवन में रखे गए 608 एटीएम कार्ड गायब हो गए। साथ ही संबंधित खातों से लाखों रुपये भी निकाले गए। पंचायत भवन में क्‍वारंटाइन सेंटर बनाए जाने के बाद यह घटना हुई। सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि एक व्‍यक्ति बोरे में रखे एटीएम को लेकर चलता बना। पुलिस ने इस मामले में जिबरिल अंसारी उर्फ फैयाज को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इसके पास से लिफाफे में पैक 538 एटीएम, लिफाफे में पैक 538 एटीएम पिन कोड, 70 प्रयोग किए गए एटीएम पिन बरामद किया है।

इसके अलावा घटना में प्रयोग किए गए टी शर्ट, ट्राउजर, हेलमेट, बैग व मोटरसाइकिल, एक मोबाइल फोन व अभियुक्त के बैंक का दो पासबुक और एटीएम से निकाले गए करीब 80 हजार रुपये नकद जब्त किया है। तरवाडीह पंचायत भवन में बैंक ऑफ़ बड़ौदा का कॉमन सर्विस प्वाइंट चलाया जा रहा था। लॉकडाउन के दौरान यह युवक सीएसपी का फर्जी संचालक बनकर क्‍वारंटाइन सेंटर से एटीएम से भरा बोरा ले उड़ा। इसके बाद उसने 70 एटीएम से पैसे की निकासी की। पुलिस ने फैयाज को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

बता दें कि कुछ दिन पूर्व तरवाडीह पंचायत के गुरूगु ग्राम निवासी मोहम्मद अब्बास अपने खाते से राशि की निकासी करने गया था। इस दौरान उसे पता चला कि उसके खाते में आए प्रधानमंत्री आवास योजना के 29 हजार रुपये की निकासी एक एटीएम कार्ड के द्वारा कर ली गई है। हैरत की बात तो यह है कि मोहम्मद अब्बास ने न तो कभी एटीएम कार्ड जारी करने के लिए आवेदन दिया और ना ही कभी उसने एटीएम कार्ड का प्रयोग किया था। इस संबंध में मोहम्मद अब्बास ने एक लिखित शिकायत सदर थाना लातेहार में की।

बताया कि उसके नाम से बैंक ऑफ बड़ौदा, लातेहार में एक खाता संचालित है। यह खाता तरवाडीह के सीएसपी संचालक चंदन कुमार के द्वारा खोला गया था। पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी अमित कुमार ने बताया कि सीएसपी संचालक चंदन कुमार से इस संबंध में पूछताछ की गई है। चंदन ने बताया कि सीएसपी सेंटर में लगभग 400 एटीएम कार्ड एक बोरे में भर कर रखे गए थे। उन्होंने बताया कि सेंटर का संचालन पंचायत भवन में किया जाता है और इसी सेंटर में सरकारी क्वारंटाइन सेंटर खोला गया है।

यहां कई प्रवासी मजदूरों को क्वारंटाइन किया गया था। इसी दौरान सभी 400 एटीएम कार्ड वहां से गायब हो गए। इस संबंध में लातेहार थाना कांड संख्या 136/2020 भादवि की धारा 419/420/379 के तहत अज्ञात लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया। इसके आलोक में पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से पड़ताल की। इसमें पता चला कि तरवाडीह गांव निवासी जिबरिल अंसारी उर्फ फैयाज उम्र 22 वर्ष पिता यूनुस सलीम फर्जी सीएसपी संचालक बनकर क्‍वारंटाइन सेंटर से सभी एटीएम उड़ा ले गया। इसके बाद पुलिस ने छापेमारी कर उसके गांव से उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस पूछताछ में उसने इस घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली।

इसके साथ ही उसके घर से चोरी किए गए सभी एटीएम एवं पिन बरामद कर लिए गए। पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी ने बताया कि यह सभी एटीएम एवं पिन कोड बैंक ऑफ बड़ौदा लातेहार का है। 608 एटीएम में से 400 एटीएम की जांच पड़ताल की गई है। इसमें अबतक दो सौ एटीएम से इसके द्वारा दो लाख रुपये की निकासी की गई है। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। इस छापेमारी अभियान में थाना प्रभारी सह इंस्पेक्टर अमित कुमार गुप्ता, आरक्षी मुजफ्फर आलम और अन्‍य पुलिस अधिकारी शामिल थे।

Edited By: Sujeet Kumar Suman