रांची, [जागरण स्‍पेशल]। मिठाइयों के नाम में जलेबी का नाम सबसे पहले आता है। तमाम मिठाइयों में जलेबी के दीवाने सबसे ज्यादा मिलेंगे। राजधानी रांची के फिरायालाल चौक पर जय हिंद फार्मा के सामने कई जलेबी के ठेले लगते हैं मगर राजेश खत्री के ठेले की जलेबी काफी मशहूर है। यहां आम दिनों में भी लोगों का तांता जलेबी खाने के लिए लगा रहता है।

राजेश खत्री ने बताया कि उनके दुकान की पहचान शुद्धता के लिए है। वो 20 सालों से फिरायालाल में ठेले पर जलेबी बना रहे हैं। उनके ठेले पर लोग इलायची वाली कुरकुरी जलेबी खाने के लिए आते हैं। राजेश खत्री बताते है कि उनके ज्यादातर ग्र्राहक रेगुलर हैं। जलेबी में वो ताजा घोल और अच्छे तेल की क्वालिटी का इस्तेमाल करते हैं। इससे लोगों की स्वास्थ्य पर किसी तरह का बुरा असर नहीं पड़ता है। उनकी दुकान सुबह 7 बजे से रात के 9 बजे तक खुली रहती है।

राजेश खत्री ने बताया कि 20 साल पहले चीजें सस्ती थी तो जलेबी 40 रुपये किलो थी मगर अब चीनी और बाकी सामानों के दाम बढऩे से 100 रुपये में भी मुनाफा ज्यादा नहीं बच पाता। उन्होंने बताया कि वो लोगों की सेहत के साथ पर्यावरण का भी विशेष ख्याल रखते हैं इसलिए सरकार से पहले ही प्लास्टिक के बैग में सामान देना बंद कर चुके हैं।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप