रांची, जेएनएन। पूर्व विदेश मंत्री और भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज के निधन पर झारखंड में भी शोक की लहर है। कई नेताओं समेत आम जनों ने भी सुषमा स्वराज के निधन पर दुख जताया है। राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने सुषमा स्वराज के निधन गहरा दुख प्रकट किया है। अपने शोक संदेश में उन्होंने कहा है कि बड़ी बहन सुषमा स्वराज एक प्रखर वक्ता, विदुषी व भारतीय राजनीति की अद्भुत व्यक्तित्व जिसका पूरा विपक्ष भी प्रशंसा करता था। वे ममता की प्रतिमूर्ति थी। वे खराब स्वास्थ्य होने पर भी किसी को न्याय दिलाने के लिए सक्रियता से काम करती थी। वे विश्व की सबसे चर्चित व लोकप्रिय नेताओं में अहम थी।
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि पूर्व विदेश मंत्री के निधन की खबर से स्तब्ध और दुखी हूं। सुषमा जी ने अपना पूरा जीवन राष्ट्रसेवा को समर्पित किया, उनकी कमी हमें सदैव महसूस होगी। राज्य के खाद्य मंत्री सरयू राय ने कहा है कि सुषमा स्वराज की मृत्यु मर्माहत करनेवाली है। मैं उन्हें 1977 से जानता हूं। हमारे संबंध आत्मीय थे। जनता पार्टी से लेकर भारतीय जनता पार्टी तक में उनके साथ काम करने के अनेक मौके मिले।
झारखंड में भाजपा की मुख्‍य स‍हयोगी पार्टी आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो ने कहा कि सुषमा स्वराज जी के निधन की खबर से स्तब्ध और मर्माहत हूं। कोडरमा की सांसद अन्‍नपूर्णा देवी ने कहा है कि पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन से स्तब्ध हूं। उनके निधन से देश की आधी आबादी की बुलंद आवाज का अवसान हो गया।

इधर, निधन की खबर पाकर झारखंड भाजपा के कई नेता सुषमा स्‍वराज के अंतिम दर्शन के लिए दिल्‍ली पहुंच गए हैं। केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा और राज्‍य के खाद्य मंत्री सरयू राय रात में ही एम्‍स पहुंच गए थे। यहां उनके आवास पर सुबह से ही लोग अंतिम दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं। दोपहर 3 बजे के बाद उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

इन्‍होंने भी जताया दुख
झारखंड राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के पूर्व सदस्‍य मनोज कुमार ने कहा है कि सुषमा स्वराज जी का निधन देश के लिये अपूर्णीय क्षति है। देश ने एक जुझारू, प्रखर वक्ता  और देश के लिए हर पल चिंतन मनन करने वाली नेत्री हमलोगों के बीच नहीं रहीं। यह अत्यंत मर्माहत करने वाली व दुखद घटना है। इसकी भरपाई संभव नहीं है। झारखंड प्रदेश प्रबुद्ध प्रकोष्ठ भाजपा ने अपनी संवदेना में कहा है कि सुषमा स्‍वराज ने जन सेवा से जन आंदोलन, सड़क से संसद तक हमेशा लोकतांत्रिक अधिकार के लिए संपूर्ण जीवन जनता को समर्पित कर एक आदर्श प्रस्तुत किया। ईश्वर से प्रार्थना है कि उनकी आत्मा को शांति मिले।
झारखंड राज्य अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष गुरविंदर सिंह सेठी ने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि भारतीय राजनीति में अमिट छाप छोड़ने वाली भारतीय जनता पार्टी की तेजतर्रार नेत्री सुषमा स्वराज जी के निधन से मुझे काफी आघात पहुंचा है। स्वराज का झारखंड से गहरा लगाव रहा है।

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस