रांची, जासं। अपर न्यायायुक्त विजय श्रीवास्तव की अदालत में सुचित्रा मिश्रा हत्याकांड में बुधवार को भाजपा नेता डॉ. शशि भूषण प्रकाश मेहता, सत्यप्रकाश उर्फ छोटू, राजनाथ सिंह, संदीप कुमार पासवान और धर्मेंद्र कुमार ठाकुर के बयान दर्ज किए गए। सभी आरोपित सशरीर कोर्ट में उपस्थित हुए। मामले में छठे आरोपित अनुज कुमार सिंह को पलामू जेल से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये पेश किया गया। अनुज किसी दूसरे मामले में जेल में बंद है।

अदालत ने बहस के लिए छह दिसंबर की तिथि तय की है। भाजपा नेता डॉ. शशि भूषण प्रकाश मेहता सहित पांच अन्य आरोपित जमानत पर हैं। मालूम हो कि धुर्वा के डीटी-1300 में रहने वाले गोविंद की बहन सुचित्रा की हत्या 11 मई 2012 की रात 8:30 बजे कर दी गई थी। दूसरे दिन धुर्वा डैम साइड से शव बरामद हुआ था। सुचित्रा ऑक्सफोर्ड स्कूल के हॉस्टल की वार्डन थी।

सर्कस दिखाने के बहाने शहीद मैदान ले गया था आरोपित

सुचित्रा मिश्रा अपने परिवार के साथ शहीद मैदान में लगे सर्कस को देखने गई थी। परिवार वाले अंदर सर्कस देखते रहे उधर उसे बुलाकर हत्या कर दी गई। शहीद मैदान के पास उसका सैंडल मिला था। यह केस को सुलझाने में महत्वपूर्ण कड़ी साबित हुई।

भाई ने दर्ज कराई थी प्राथमिकी

सुचित्रा मिश्रा के भाई गोविंद पांडेय ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी। सुचित्रा के पति अवधेश मिश्रा का वर्ष 2000 में बीमारी से निधन हो गया था। वर्ष 2006 में सुचित्रा ने अपने दोनों बच्चों का ऑक्सफोर्ड स्कूल में नामांकन कराया था। इसी दौरान डॉ. मेहता से उसकी नजदीकी बढ़ी। वर्ष 2007 में मेहता ने सुचित्रा को स्कूल में ही नौकरी दे दी थी और उसे हॉस्टल का वार्डन बना दिया था।

सुचित्रा को स्कूल में ही आवास दिया गया था। साथ ही, 22 हजार रुपये मासिक वेतन। आरोप है कि मेहता से सुचित्रा का अवैध संबंध था, जिससे वर्ष 2009 में वह गर्भवती हो गई थी। उसे बीएड कराने के बहाने मेहता ने अलीगढ़ (उत्तर प्रदेश) भेज दिया था। सितंबर 2009 से मार्च 2010 तक सुचित्रा अलीगढ़ में रही और वहां उसने एक बच्चे को जन्म दिया, जो मेहता दंपती के पास है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस