संवाद सहयोगी, रामगढ़ : श्री गुरुनानक ऑडिटोरियम में रविवार को 35 जोड़ों ने एक दूजे का हाथ थामा। सात फेरे लिए और सात जन्मो तक साथ निभाने का वादा किया। शहर आशीर्वाद के लिए उठ खड़ा था। इसके पूर्व गाजे-बाजे व पारंपरिक नृत्य के बीच जोड़ों ने शहर का भ्रमण किया। 35 आटो पर 35 जोड़े सवार थे। कार्यक्रम भारत विकास परिषद की ओर किया गया था।

आयोजन स्थल पर अतिथियों का पारपंरिक तरीके से स्वागत करते हुए गुलाब फूल भेंट किया गया। इस दौरान मुख्य अतिथि गिरिडीह के सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी, भारत विकास परिषद के राष्ट्रीय संगठन मंत्री सुरेश जैन, प्रांतीय सचिव रमन सिन्हा, प्रांत प्रमुख अशोक अग्रवाल, क्षेत्रीय संगठन मंत्री केशव राजू, डा. बाल्मीकि आदि अनेक समाजसेवी सामूहिक विवाह समारोह में शामिल हुए। सामूहिक विवाह से ही खत्म होगी दहेज प्रथा : सीपी

समारोह के मुख्य अतिथि गिरिडीह के सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी ने कहा कि यह ऐतिहासिक व साहसिक कार्य किया है। हाथ पीले कराने से बड़ा पुण्य का काम और कुछ नहीं है। उम्मीद है कि अगली बार आप लोग 51 जोड़ों का सामूहिक विवाह कराएं। सामूहिक विवाह से ही समाज में फैली कोढ़ रूपी दहेज प्रथा का प्रचलन खत्म होगा। कहा कि माता-पिता अपने बच्चों के अच्छे जीवन के लिए हर वक्त चितित रहते है। कहा कि आज बेटियों के विवाह में जिनके पास सामर्थ नहीं है। समाज में आज दहेज प्रथा हर माता-पिता के लिए बड़ी परेशानी का कारण बन गया है। ऐसे ही कार्यक्रमों से दहेज प्रथा खत्म होगी। उन्होंने वर-वधू को आशीर्वाद देते हुए मंगल जीवन की कामना की।

-----------

बेटियों से सजा होता हैं घर-आंगन : सुरेश

भारत विकास परिषद के राष्ट्रीय संगठन मंत्री सुरेश जैन ने कहा कि बेटियों से हर घर का आंगन सजा होता है। बेटियों की चहक से घर का माहौल खिल उठता है। आज यहां 35 जोड़ों का सामूहिक विवाह कराया जा रहा है। इस कार्यक्रम में शामिल होकर अपने को भाग्यशाली मान रहा हूं। कहा कि शादी समारोह में शामिल बेटियों का जीवन और भविष्य अच्छा बने यही भगवान से प्रार्थना करता हूं। कहा कि परिषद सेवा और संस्कार के लिए बनी है। भारत विकास परिषद रामगढ़ सामूहिक विवाह समारोह के बाद इनके भविष्य का भी देखभाल करें। उन्होंने कहा कि परिषद शिक्षा, चिकित्सा के क्षेत्र में भी बेहतर काम कर रहा है।

----------

35 जोड़ों का गाजे-बाजे के साथ हुआ नगर भ्रमण

सामूहिक विवाह में शामिल होने वाले सभी 35 जोड़ों आयोजन स्थल गुरुनानक ऑडिटोरियम में पहुंचे थे। वहां से सभी 35 जोड़े का सामूहिक शोभा यात्रा आटो से गाजे-बाजे के साथ नगर भ्रमण करते हुए वापस आयोजन स्थल पर पहुंचा। इस दौरान आटो के आगे झारखंडी झूमर करती युवतियां चल रही थी। बाद में भव्य रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। स्थानीय कलाकारों ने डांडिया नृत्य कर समां बांध दिया। इधर परिषद ने अतिथियों को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया। वहीं सामूहिक विवाह को सफल करने में सहयोग करने वालों को भी प्रतिक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। संचालन विजय मेवाड़ ने किया। सामूहिक विवाह में शामिल हुए वर-वधू के चेहरों पर गजब की मुस्कान थी। सभी जोड़े एक-दूसरे से बेफिक्र होकर वार्तालाप कर रहे थे। उनके चेहरों पर एक सकुन व उत्साह देखने को मिल रही थी।

-------------

समारोह में इनकी रही मौजूदगी

भारत विकास परिषद रामगढ़ शाखा के अध्यक्ष गोविद मेवाड़, सचिव रंजीत चौधरी, कार्यक्रम संयोजक रमेश बौंदिया, उमेश राजगढि़या, अमित साहू, धीरज सिंह, सुनील, अमित अग्रवाल, सचिन अग्रवाल, किशोर जाजू, रामधन शर्मा, जगदीश शर्मा, सुशील गर्ग, देवांशु साहा, अशोक अग्रवाल, हरीश चौधरी, ब्रजेश साहू, आनंद सर्राफ, विकास अग्रवाल के अलावे डा. संजय सिंह, जगजीत सिंह सोनी, , शिवकुमार अग्रवाल, दिनेश शर्मा, भगवान प्रसाद, विनोद जयसवाल, अनीता राजगढि़या आदि मौजूद थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप