Move to Jagran APP

पलामू में महाशिवरात्रि के तोरणद्वार पर 2 समुदायों में हिंसा, धार्मिक स्थल से पत्थरबाजी, घर-मकान-दुकान फूंके गए

पलामू के पांकी में महाशिवरात्रि की पूजा के मौके पर तोरणद्वार बनाने को लेकर दो समुदायों के बीच जमकर हुई झड़प में इलाके में तनाव का माहौल है। यहां धारा 144 लागू कर दी गई है। भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है।

By Jagran NewsEdited By: Arijita SenPublished: Wed, 15 Feb 2023 12:26 PM (IST)Updated: Wed, 15 Feb 2023 02:46 PM (IST)
पलामू के पांकी में सांप्रदायिक हिंसा, धारा 144 लागू

संवाद सूत्र, पांकी (पलामू)। महाशिवरात्रि को लेकर तोरणद्वार बनाने के विवाद में बुधवार को पलामू जिले के पांकी में सांप्रदायिक हिंसा भड़क उठी। दोनों समुदायों के बीच पत्थरबाजी हुई और मारपीट हुई। एक मकान, दो बाइक और दो दुकान आग के हवाले कर दिए गए। एक घंटे से ज्यादा समय तक शहर का मस्जिद चौक इलाका युद्ध का मैदान बना रहा। डेढ़ दर्जन से ज्यादा लोग घायल हुए। कई पुलिसकर्मियों को भी चोट लगी है, जिसमें क्षेत्र के पुलिस उपाधीक्षक आलोक कुमार टुडू भी शामिल हैं। इलाके में रूक-रूक कर पत्थरबाजी जारी है। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए भारी पुलिस बल के साथ आइजी से लेकर डीसी-एसपी तक कैंप कर रहे हैं।

loksabha election banner

रात में हुआ विवाद, सुबह को गया बलवा

पांकी के राहेवीर पहाड़ी पर स्थित शिव मंदिर में हर साल धूमधाम से महाशिवरात्रि मनाया जाता है। इस साल 18 फरवरी को महाशिवरात्रि है। मंदिर कमेटी तैयारी में लगी है। इसी के मद्देनजर मंगलवार की शाम मस्जिद चौक पर तोरणद्वार बनाने के लिए बांस-बल्ली और कपड़ा लेकर मजदूर पहुंचे। एक समुदाय के लोगों ने उन्‍हें रोक दिया। उनका कहना था कि यहां पर एक धार्मिक स्थल है इसलिए तोरणद्वार बनाने नहीं दी जाएगी। इसे लेकर विवाद हुआ।

विवाद के बाद दूसरे समुदाय के लोग लौट गए और बुधवार सुबह लोग फिर से तोरणद्वार बनाने पहुंचे। इस बीच दोनों पक्ष के लोग जुटे। सूचना मिलने पर पांकी थाना प्रभारी रंजीत प्रसाद यादव पुलिस बल के साथ पहुंचे। दोनों पक्षों के बीच बातचीत शुरू हुई। इसी बीच एक उग्र व्यक्ति ने मंदिर कमेटी के सदस्‍यों में से एक निरंजन सिंह के सिर पर डंडा मार दिया। उनका सिर फट गया और देखते ही देखते पुलिस के सामने ही मस्जिद चौक युद्ध का मैदान बन गया।

दोनों समुदायों ने एक-दूसरे पर की पत्‍थरबाजी

पुलिस के सामने ही धार्मिक स्थल के ऊपर से पत्थरबाजी शुरू हुई। इसके जवाब में दूसरी तरफ से भी पत्थर फेंके जाने लगे। जिसे जो मिला वह वही फेंक रहा था। पत्थर के साथ ही कोल्ड ड्रिंक्स की बोतलों से भी प्रहार किए गए। आगजनी भी हुई। बाइक, घर और दुकान फूंके गए।

दोनों पक्ष के लोग पीछे हटने को तैयार नहीं थे। आमने-सामने होकर लगातार पत्थरबाजी करते रहे। बाद में पांकी के साथ ही लेस्लीगंज, लोहरसी, तरहसी आदि थानों की पुलिस को बुलाया गया। आइजी राजकुमार लकड़ा, उपायुक्त आंजनेयुलू दोड्डे, एसपी चंदन कुमार सिन्हा मौके पर पहुंचे, इसके बाद स्थिति नियंत्रित हुआ। लोग पीछे हटे।

धारा-144 लागू, इंटरनेट बंद

स्थिति को कंट्रोल में करने के लिए एसडीएम राजेश साह ने पांकी थाना क्षेत्र में धारा-144 लागू कर दिया है। इसके साथ ही इलाके में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। भारी पुलिस बल के साथ आइजी, डीसी, एसपी समेत कई थानों की पुलिस कैंप कर रही है।

उपायुक्त ने पांकीवासियों से शांति बनाए रखने की अपील की

पलामू के उपायुक्त आंजनेयुलू दोड्डे ने कहा है कि पांकी में दो समूहों के बीच हुए विवाद से उत्पन्न विधि-व्यवस्था की स्थिति शांतिपूर्ण एवं नियंत्रण में है। जिला प्रशासन स्थिति पर पूरी तरह से निगाह रखे हुए है। प्रशासनिक अधिकारियों सहित पुलिस के पदाधिकारी दल-बल के साथ स्थल पर कैंप कर रहे हैं।

पूरे क्षेत्र में धारा 144 अंतर्गत निषेधाज्ञा लगा दी गयी है। सोशल मीडिया पर भी कड़ी निगरानी रखी जा रही है। उपायुक्त दोड्डे ने लोगों से अपील की है कि किसी भी तरह की अफवाहों पर ध्यान नहीं दें, किसी भी व्यक्ति के द्वारा सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाते पाये जाने पर कड़ी कानूनी कार्रवाई किये जाने के निर्देश दिये गये हैं।

यह भी पढ़ें- झारखंड में स्वास्थ्य कर्मी प्रोत्साहन सम्मान योजना की हुई शुरुआत, लक्ष्‍य हासिल करने पर मिलेगा पुरस्‍कार


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.