संवाद सूत्र, विद्यासागर (जामताड़ा) : शुक्रवार को विद्यासागर (करमाटांड़) प्रखंड क्षेत्र में सरस्वती प्रतिमा विसर्जन को ले दो अलग-अलग स्थानों में दो समुदायों के बीच हुई झड़प के बाद इलाका पुलिस छावनी में तब्दील हो गया है। प्रशासन ने स्थिति को गंभीरता को देखते हुए पारटोल व कठबरारी गांव में भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती से स्थिति नियंत्रण में है। पारटोल व कठबरारी दोनों स्थानों पर विसर्जन के दौरान बाजा बजाने के लेकर दो समुदाय आमने-सामने हो गए और अंतत: स्थिति तनावपूर्ण होने के बाद पुलिस को स्वयं प्रतिमा विसर्जन करना पड़ा।

शुक्रवार देर रात थाना क्षेत्र के पारटोल गांव में पूजा समिति के सदस्यों ने मूर्ति विसर्जन करने के दौरान जब सड़क से स्कूल टोला की ओर मुखातिब हुआ तो दूसरे समुदाय ने मूर्ति के साथ गाजा-बाजा ले जाने पर आपत्ति जता दी। इसी बात को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प होने लगी तथा यह खबर सुनते ही थाना प्रभारी राम शरीक तिवारी, अंचल अधिकारी सच्चिदानंद वर्मा घटनास्थल पर पहुंचकर मूर्ति विसर्जन करने वालों को काफी समझाया कि अब पूजा हो चुकी है, अंत में शांतिपूर्ण वातावरण बनाते हुए मूर्ति को विसर्जन करें। लेकिन, दूसरे समुदाय के रोक-टोक करने पर आपस में झड़प आरंभ हो गई और जब पुलिस प्रशासन ने मूर्ति विसर्जन करने वालों को समझाने का प्रयास किया तो आक्रोशित श्रद्धालु घटनास्थल पर ही मूर्ति छोड़कर चले गए। जबकि दूसरे समुदाय के लोग सड़क पर ही डटे रहे और आगे नहीं बढ़ने की बात कहने लगे। इसके पश्चात पुलिस प्रशासन ने स्वयं मूर्ति का विसर्जन किया। तनाव को देखते हुए अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अरविद उपाध्याय, अनुमंडल पदाधिकारी सुधीर कुमार, अंचल अधिकारी सच्चिदानंद वर्मा समेत दर्जनों लोग घटनास्थल पर पहुंच गए। गांव में अमन-चैन बनाए रखने के लिए पुलिस गश्ती तेज कर दी गई है।

इधर कठबरारी गांव में भी पुलिस प्रशासन की देखरेख में प्रतिमा विसर्जित की गई। यहां भी विसर्जन के दौरान मस्जिद के पास से गाजे-बाजे व अबीर गुलाल खेलने पर आपत्ति जताते हुए झड़प आरंभ हो गई। बताया जा रहा है कि कठबरारी गांव के विद्यालय की प्रतिमा विसर्जन पुलिस प्रशासन की देखरेख में शांतिपूर्ण माहौल में ऊपर से नीचे टोला ले जाया जा रहा था। इसी क्रम में मस्जिद के बाहर की दीवारों पर व चबूतरे के पास गुलाल उड़ने से लोग भड़क उठे। लोगों ने पुलिस पर प्रतिमा विसर्जन के दौरान गाड़ी खड़ी करके बाजा बजाने का आरोप लगाया। इसी बीच दोनों पक्षों के बीच झड़प हुई और लाठी चार्ज होते ही पूजा समिति के सदस्य सड़क पर ही प्रतिमा छोड़कर चले गए। वहां भी बाद में पुलिस ने ही प्रतिमा का विसर्जन किया।

इस संदर्भ में करमाटांड़ के थाना प्रभारी रामशरीक तिवारी ने कहा कि गांव में शांतिपूर्ण माहौल है पर एहतियात के तौर पर पुलिस की तैनाती कर दी गई है। पुलिस असामाजिक तत्वों पर नजर रखे हुए है।

Edited By: Jagran