जमशेदपुर, जासं। कोरोना को लेकर जहां झारखंड के जमशेदपुर शहर की ऑटोमोबाइल कंपनियां कराह रही हैं, वहीं एक कंपनी टिमकेन इंडिया लिमिटेड में बेेहतर प्रदर्शन हो रहा है। इस लॉकडाउन के बीच जहां टाटा मोटर्स, टाटा कमिंस आदि कंपनियां ब्लॉक-क्लोजर कर रही है वहीं टिमकेन में पूरी रफ्तार के साथ उत्पादन कार्य चल रहा है। बीते मार्च से लेकर अभी तक कंपनी में एक भी ब्लॉक-क्लोजर नहीं हुआ है जबकि बीते साल कोरोना को लेकर यह कंपनी पूरे एक साल में 30 से ज्यादा क्लोजर ले चुकी थी।

कोरोना काल का असर यहां टिमकेन कंपनी में नहीं दिख रहा है। कंपनी के कर्मचारी कोरोना संक्रमित तो हुए लेकिन कंपनी उत्पादन पर कोई असर नहीं पड़ा है। बीते अप्रैल से लेकर अभी तक कंपनी के उत्पादन में हरेक माह इजाफा ही हुआ है। पिछले मई माह में कंपनी में 12 हजार स्टैंडर्ट बियरिंग व सात हजार रेलवे बियरिंग बनाए गए हैं जो पिछले माह के उत्पादन से ज्यादा है। कंपनी पूरे मैनपावर के साथ उत्पादन काम कर रही है।

विदेशों में भेजे जा रहे बियरिंग, रेलवे में भी मांग

टिमकेन के बने बियरिंग टाटा मोटर्स के वाहनों में भी लगाए जाते हैं। जमशेदपुर के अलावा लखनऊ, पुणा, पंतनगर आदि स्थानों में भी इसके माल भेजे जाते हैं। इन सब के अलावे कंपनी के निर्मित बियरिंग की मांग विदेशों में भी ज्यादा है। इधर ज्यादातर कंपनी का माल एक्सपोर्ट हो रहा है। रेलवे बियरिंग की भी काफी मांग है। यहीं कारण है कि कोरोना काल में भी कंपनी का उत्पादन कम नहीं हुआ है।

चल रहा विस्तारीकरण का काम

इधर, कंपनी में विस्तारीकरण कार्य भी शुरू है। हाल ही में रोलर लाइन व आफ्टर लाइन को तैयार किया गया है। इस नई लाइन लगाने के बाद कंपनी के उत्पादन क्षमता में डेढ़ गुणा बढ़ोतरी हो गई है। इसको लेकर कंपन कर्मचारियों में भी उत्साह है। उनका कहन है कि कंपनी की प्रगति से उनका भविष्य भी जुडा है। वे उत्पादन बढाने में पूरी ताकत से काम कर रहे हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप