जमशेदपुर : भारत का प्रसिद्ध स्ट्रीट फूड गोलगप्पे खाना लोग खूब पसंद करते हैं। महिला, पुरुष व बच्चे सभी को यह व्यंजन पसंद हैं। कई राज्यों में इसे पानीपुरी के नाम से भी जाना जाता है। अभी तक आपने गोलगप्पे ज्यादा खाने से होने वाले नुकसान के बारे में सूना होगा लेकिन आज हम आपको इसके फायदे के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे सूनने के बाद आप चौंक जाएंगे और कहेंगे कि गोलगप्पे खाने से इतना अधिक फायदे होते हैं।

विशेषज्ञों के अनुसार, अगर गोलगप्पे का सेवन निर्धारित मात्रा में किया जाए तो इसके कई फायदे हैं। एक बार में छह से ज्यादा गोलगप्पे नहीं खाना चाहिए। गोलगप्पे खाने से आपको कैलोरी मिलती है। आपका पेट लंबे समय तक भरा रहता है।

मुंह में छाले को करता है गायब

आपने अक्सर देखा होगा कि अगर किसी व्यक्ति के मुंह में छाले हो जाते हैं तो वह गोलगप्पे खाने पसंद करता है। क्योंकि इससे मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं। दरअसल, गोलगप्पे के साथ मिलने वाले जलजीरा में तीखापन और पुदीना या खट्टापन से छाले को दूर करने में सहायक होता है। हालांकि, यह अधिक मात्रा में नहीं खानी चाहिए।

एसिडिटी को दूर करता

गोलगप्पे एसिडिटी को भी दूर करता है। अगर आपको एसिडिटी की समस्या है तो आप गोलगप्पे खाकर इसे छुटकारा पा सकते हैं। आटे की पानीपुरी के साथ जलजीरा में पुदीना, कच्चा आम, काला नमक, कालीमिर्च, पिसा हुआ जीरा और साधारण नमक का मिश्रण होना चाहिए। इन सभी चीजों का मिश्रण होने से एसिडिटी से कुछ ही मिनटों में छुटकारा मिल सकता है। इस तरह से आपको एसिडिटी से मुक्ति मिल जाती है।

गैस की समस्या से मिलता है छुटकारा

आज के समय में गैस की समस्या से हर कोई परेशान है। ऐसे में उनके लिए गोलगप्पा खाना फायदेमंद हो सकता है। गैस की समस्या दूर होने के साथ-साथ गोलगप्पे खाने से मूड रिफ्रेश भी होता है।

ये भी होते फायदे

गोलगप्पे खाने से कई तरह के फायदे होते हैं। गोलगप्पे के पानी में पुदीना, जीरा और हिंग मिलाया जाता है, जो एंटीऑक्सिडेंट से भरे होते हैं। इससे दर्द कम होने, पाचन और सर्दी-खांसी में राहत मिलती है। वहीं, गोलगप्पे खाने से कुछ नुकसान भी हो सकता है। इसमें डायरिया, डिहाइड्रेशन, उल्टी, दस्त, पीलिया, अल्सर, पाचन क्रिया में गड़बड़ी हो सकती है।

इन बातों का रखें ख्याल

  • गोलगप्पे का पानी घर में ही बनाना चाहिए।
  • लाल चटनी की बजाए दही का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • गोलगप्पे में आलू की बजाय आप उबले हुए चने का इस्तेमाल किया जाना चाहिए।
  • सूजी के बजाय आटे के गोलगप्पे खाने चाहिए।

Edited By: Jitendra Singh