जमशेदपुर, जासं। टाटा मोटर्स में स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) की समय सीमा शनिवार को समाप्त हो गई। 15 दिसंबर को कंपनी में वीआरएस शुरू हुआ था। कंपनी में 170 कर्मचारी व करीब 80 अधिकारी इस योजना में शामिल हो चुके हैं।

कोरोना काल के बाद कर्मचारियों के बीच यह योजना आई थी, जिसमें तीन से चार साल शेष रहे नौकरी वाले अधिकतर कर्मियों ने इसका लाभ उठाया है। स्कीम को आगे बढ़ाने का कोई आदेश प्रबंधन की ओर से शनिवार को नहीं जारी किया गया। अधिकारियों में एल थ्री व एल फोर श्रेणी के अधिकारी भी शामिल हैं। जो कंपनी के सिक्यूरिटी विभाग, एचआर,  क्लब सहित अन्य विभागों में कार्यरत थे। इसके अलावा वीआरएस लेने वालों में टाटा मोटर्स वर्कर्स यूनियन के एक वरीय अधिकारी के नाम की चर्चा जोरों पर है। हालांकि इसकी पुष्टि प्रबंधन या यूनियन ने नहीं की है।

आगे स्‍कीम बढ़ने की संभावना नहीं

स्कीम लेने वालों में मेडिकल अनफिट, लंबे समय से अवकाश पर चले कर्मचारी और दो-तीन साल सर्विस बचे कर्मचारी व अधिकारी हैं। पिछले साल दिसंबर में स्कीम लायी गयी थी और आठ दिसंबर तक आवेदन मांगा गया था। इसके बाद वीआरएस लेने की तिथि नौ जनवरी फिर 16 जनवरी तक बढ़ा दी गयी थी। अब आगे इसकी समय-सीमा बढ़ने की संभावना कम दिख रही है। लंबे समय तक अवकाश में रहने, अनुपस्थित रहने व मेडिकल अनफिट होने वाले कर्मचारियों को इस योजना से लाभ मिला है। ड्यूटी नहीं करने की वजह से उनका वेतन कट जाता था, लेकिन अब उन्हें बेसिक-डीए प्रतिमाह पूरा मिलेगा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021