जमशेदपुर, जागरण संवाददाता। सीतारामडेरा थाना क्षेत्र में घर में सो रही 10 वर्षीय बालिका के साथ उसके पड़ोसी द्वारा गंदी हरकत किए जाने का मामला सामने आया है। उसकी रोने की आवाज सुनकर बालिका की माता-पिता ने पड़ोसी को पकड़ लिया। उसकी पिटाई करने लगे। हल्ला सुनकर बस्ती के लोग भी एकजुट हो गए। आरोपित की लोगों ने पिटाई कर दी जिसे सीतारामडेरा थाना की पुलिस को सौंप दिया गया।

बच्ची के पिता की शिकायत पर आरोपित के खिलाफ दुष्कर्म की धारा 376 सी और पोक्सो एक्ट के तहत सीतारामडेरा थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस ने आरोपित को बुधवार को न्यायालय में प्रस्तुत किया जहां उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। वह दो बच्चों का पिता है। आरोपित बालिका के घर पर हमेशा आना-जाना करता था। मंगलवार रात उसके घर पर गया था। बालिका के पिता के साथ बैठकर टीवी देख रहा था। बालिका सो रही थी। पिता बाथरूम की ओर गए तो पड़ोसी सो रही बालिका के साथ गंदी हरकत करने लगा। वह जाग गई। रोने लगी। उसकी आवाज सुनकर उसके माता-पिता आ गए। आरोपित को पकड़ लिया।

घर से भागकर टाटानगर स्टेशन पहुंचा नाबालिग

छतीसगढ़ के रिवाडीह का रहने वाला एक नाबालिग गीतांजलि एक्सप्रेस पकड़कर बगैर परिजनों को बताए टाटानगर स्टेशन पहुंच गया। स्टेशन ड्यूटी के दौरान आरपीएफ के सब-इंस्पेक्टर आर ए सिंह की नजर नाबालिग पर पड़ी। नाबालिग को स्टेशन के आरपीएफ बूथ पर लाया गया और प्यार से पूछताछ की गई। नाबालिग ने बताया कि वह घूमने के लिए ट्रेन में सवार हो गया। ट्रेन के टाटानगर स्टेशन पहुंचने पर वह उतरा और प्लेटफार्म पर बैठा था कि आरपीएफ अधिकारी की नजर उसपर पड़ी। आरपीएफ ने नाबालिग को चाइल्डलाइन के हवाले कर दिया है।

 

Edited By: Rakesh Ranjan