जमशेदपुर : वेज-नॉनवेज के लाल-हरे मार्क की तरह इन लोगों के लिए है खास निशान। आइए आज हम जानते हैं किसके लिए किस मार्क का होता है इस्तेमाल। आप देखते होंगे कि जिस तरह वेज खाने के सामान पर हरा मार्क होता है और नॉनवेज सामान पर लाल मार्क होता है। वैसे अब वीगन लोगों के लिए भी खास सिंबल शुरू कर दिया गया है।

इस सिंबल से पता लगाया जा सकता है कि पैकेट में बंद सामान वीगन फूड है। पहले वीगन फूड पर अलग से लिखना पड़ता था।, लेकिन अब मार्क से इसका पता लगाया जा सकता है। इससे वेजिटेरियान और नॉन वेजिटेरियन लोगों को भी वीगन फूड के बारे में पता चल जाएगा और वीगन लोगों को भी अपना फूड ढूंढने में आसानी हो जाएगी7 ऐसे में जानते हैं कि आखिर वीगन डाइट क्या होती है। और इसका सिंबल कैसा होगा, जिससे आपको फूड प्रोडक्ट लेते समय इसके बारे में पता चल जाएगा।

वेज और नॉनवेज के लिए कैसा होता है मार्क

वर्तमान समय में वेज के लिए एक मार्क का इस्तेमाल किया जाता है, जिसमें एक चौकार लाइन का डब्बा होता है और उसमें एक गोला बना होता है। यह सिंबल हरे रंग का होता है। वेज खाने के लिए हरे रंग का सिंबल बनाया जाता है, जबकि नॉन वेजिटेरियन फूड के लिए लाल रंग का निशान होता है। आकार में दोनों एक जैसे ही होते हैं, लेकिन इनके रंग अलग-अलग होते हैं।

वीगन के लिए कैसा होगा निशान

फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्स ऑथारिटी ऑफ इंडिया ने इसका नया लोगो लांच किया है। इस लोगों के होने से बाजार में ग्राहक नॉन वेजिटेरियन और वीगन प्रोडक्ट के बीच फर्क को आसानी से समझ सकेेंगे। फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्स ऑथारिटी ऑफ इंडिया के नए लोगों में एक ग्रीन बॉक्स के अंदर हरे रंग का बड़ा सा वी होगा और वी के बीचोंबीच एक छोटा सा प्लांट रहेगा, जबकि नीचे की तरफ कैपिटल लेटर में VEGAN लिखा होगा। वीगन डाइट के लिए लांच हुआ लोगों वेजिटेरियन और नॉन वेजिटेरियन के लोगो से एकदम अलग है, ताकि ग्राहक आसानी से अपना प्रोडक्ट चुन सके।

क्या होता है वीगन डाइट

बहुत सारे लोगों को लगता है कि वेज डाइट और वीगन डाइट दोनों एक ही है, लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। भले ही दोनों डाइट में मांस-मछली का सेवन नहीं किया जाता है, लेकिन फिर भी दोनों में बड़ा अंतर है। वीगन डाइट का सेवन करने वाले दूध और दही को भी मांसाहार मानते हैं। वीगन डाइट प्लान में चिकन, मटन, अंडे, मछली तो दूर की बात है, पशुओं से मिलने वाली किसी भी चीज का सेवन नहीं किया जाता है। जैसे दूध, दही, शहद, घी, मक्खन, खोवा, या इन चीजों से बनी मिठाईयां का भी सेवन नहीं करते। वीगन डाइट में केवल और केवल पेड़-पौधों से मिलने वाले खाद्य पदार्थों का ही सेवन किया जाता है।

वीगन डाइट में क्या खाया जाता है

वीगन डाइट में फल, सब्जियां, अनाज, मेवे वैगेरह शामिल होते हैं। इसमें दूध की जगह सोयाबीन या बादाम का दूध ले सकते हैं। खाना बनाने के लिए भी घी के स्थान पर ऑलिव ऑयल, तिल के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। कार्बोहाइड्रेट के लिए साबुत अनाज, जौ, बाजरा, ज्वार, केला वगैरह लिया जाता हैं। वहीं प्रोटीन के लिए साबुत दालें, मटर, बादाम, फलियां, सोयाबीन का आटा आदि का सेवन किया जाता है। चाहें तो ब्राउन ब्रेड, तिलहन, सूखे मेपे, अंजीर, यीस्ट, अलसी, अखरोट, खुबानी वैगेरह भी वीगन डाइट में लिए जा सकते हैं।

Edited By: Jitendra Singh