Move to Jagran APP

Jamshedpur: जिस घर में बजनी थी शहनाई, उस घर से उठी अर्थी, शादी होने से एक हफ्ते पहले ही दूल्हे ने की खुदकुशी

जमशेदपुर जिले में मानगो थाना क्षेत्र के पोस्ट ऑफिस रोड आनंद बिहार कॉलोनी निवासी 30 वर्षीय कृष्णा यादव ने गुरुवार सुबह फांसी लगा ली। उसे एमजीएम अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

By Anwesh AmbashthaEdited By: Yashodhan SharmaPublished: Fri, 26 May 2023 12:55 AM (IST)Updated: Fri, 26 May 2023 12:55 AM (IST)
जिस घर में बजनी शहनाई, उस घर से उठी अर्थी, शादी के एक हफ्ते पहले ही दूल्हे ने की खुदकुशी

जागरण संवाददाता, जमशेदपुर। झारखंड के जमशेदपुर जिले में मानगो थाना क्षेत्र के पोस्ट ऑफिस रोड आनंद बिहार कॉलोनी निवासी 30 वर्षीय कृष्णा यादव ने गुरुवार सुबह फांसी लगा ली।

loksabha election banner

उसे एमजीएम अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उसकी शादी एक जून को होने वाली थी। शादी बिहार के चंपारण में होने वाली थी। 28 मई को तिलक समारोह था।

कृष्णा यादव भाजपा मानगो मंडल के किसान मोर्चा का महामंत्री था। मानगो में चनाचूर की दुकान थी। 24 मई को मानगो में प्रशासन ने अतिक्रमण हटाया था, जिसमें मृतक की भी दुकान टूट गई थी।

गुरुवार सुबह ही वह गांव से मानगो लौटा था। खुदकुशी का मामला प्रेम संबंध से जुड़ा होना बताया जा रहा है। शादी के एक सप्ताह पहले खुदकुशी की घटना से सभी हतप्रभ हैं। गुरुवार को शव का पोस्टमार्टम नहीं हो पाया।

युवक के स्वजनों से हो गया विवाद

युवक की खुदकुशी के बाद रीमा सिंह नामक एक महिला ने पुलिस और लोगों को बताया कि उसकी दोस्ती बचपन से ही कृष्णा यादव से थी।

स्वजनों ने उसकी शादी सोनू चंद्रा से 2012 में करवा दी थी। उसे एक पुत्र और पुत्री है। 2018 में उसने सोनू को छोड़ दिया था। कृष्णा से मंदिर में उसने शादी कर ली थी। वह उसके साथ ही रहती थी।

रीमा ने बताई वजह

20 मई को कृष्णा के गांव चले जाने पर वह अपने मायके चली गई थी। कृष्णा घर से अलग रहता था। बुधवार की रात कृष्णा के साथ अपनी एक तस्वीर सोशल मीडिया में डाली थी। इसको लेकर कृष्णा से विवाद हो रहा था।

गुरुवार सुबह कृष्णा उसके मायके आया और फ्लैट की चाबी लेकर चला गया। थोड़ी देर बाद उसने वीडियो कॉल करते हुए उसे फ्लैट में आने को कहा, जब कारण पूछा तो कुछ नहीं बताया और फोन काट दिया।

इसके बाद जब वह फ्लैट गई तो फ्लैट का दरवाजा बंद पाया, जिसके बाद पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने फ्लैट का दरवाजा तोड़कर कृष्णा को फंदे से उतारकर एमजीएम अस्पताल पहुंचाया था।

उसके अनुसार कृष्णा की शादी होने की जानकारी उसे बस्ती की महिलाओं से ही मिल रही थी। रीमा कहानी बता रही थी इस बीच मृतक के स्वजन पहुंच गए। उसकी बातें सुनकर आक्रोशित हो गए। इसके बाद दोनों पक्ष के बीच विवाद शुरू हो गया।

स्वजनों ने रीमा को ठहराया जिम्मेदार

इस दौरान दोनों के बीच नोक-झोंक भी हुई। मृतक के मामा महेंद्र रीमा पर कृष्णा को खुदकुशी के लिए उकसाने और हत्या करने का आरोप लगाने लगे और महिला के आरोप को गलत बताया।

वहीं इस मामले में मानगो थाना प्रभारी का कहना है कि किसी पक्ष ने अब तक कोई शिकायत नहीं दी है। युवक के शव का पोस्टमार्टम नहीं हो पाया है।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.