जागरण संवाददाता, घाटशिला। पूर्वी सिंहभूम जिले (East Singhbhum District) के घाटशिला बोर्ड मध्य विद्यालय (Ghatshila Board Middle School) के प्रभारी प्रधानाध्यापक (Headmaster in charge) पर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा के अपमान करने का आरोप लगा है। इससे गुस्साए ग्रामीणों ने प्रभारी प्राचार्य शफक इकबाल (Shafaq Iqbal) को बर्खास्त करने व कानूनी कार्रवाई की मांग की है।

ग्रामीणों के स्कूल पहुंचने पर प्रभारी प्राचार्य ने स्वीकार किया कि उन्होंने फटे तिरंगे को कैंची से काटा था। उन्हें ज्ञात नहीं था कि राष्ट्रीय ध्वज फट जाने से उसका क्या करना होता है। जिस पर ग्रामीण काफी आक्रोशित हो गए। हंगामे की सूचना पाकर तत्काल जिला परिषद सदस्य कर्ण सिंह (District Council Member Karan Singh) विद्यालय पहुंचे।

प्रधानाध्यापक की पुलिस में हुई शिकायत

पार्षद कर्ण सिंह ने प्राचार्य से मामले की जानकारी ली। जब उन्हें पता चला कि वाकई में तिरंगे को काटकर उसका इस्तेमाल कुर्सी पोंछने के लिए हुआ तो उन्होंने प्रधानाध्यापक से कहा कि आप विद्यार्थियों को क्या सीख देंगे। यह पूरे राष्ट्र के लोगों की भावना का अपमान है। पार्षद ने डीएसई (Deputy Superintendent of Police) से मामले की तुरंत शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग की। डीएसई ने बीईईओ (Block Education Extension Officer) को स्कूल में जांच के लिए भेजा।

प्रधानाध्यापक ने कबूला अपना गुनाह

इधर, हंगामे की सूचना पर मजिस्ट्रेट केशव भारती, बीईईओ सुबोध कुमार राय, घाटशिला थाना के एएसआई (Assistant sub-inspector) असगर अली व अन्य अधिकारी स्कूल पहुंचे। जहां बीईईओ, पार्षद, मुखिया व एएसआई, मुखिया प्रफुल्ल हांसदा, उपमुखिया शंकर बेहरा के समक्ष ही प्रधानाध्यापक ने स्वीकार किया कि उन्होंने फटे झंडे को ठीक करने के लिए उसकी कटिंग की।

Ranchi के संत पाल महागिरजाघर का 152 साल पुराना है इतिहास, कर्नल डाल्‍टन ने रखी थी नींव, 26 हजार का आया था खर्च

बच्‍चों को दिया था झंडे से कुर्सी पोंछने का आदेश

वहीं, आठवीं के छात्रों ने अधिकारियों के समक्ष कहा कि प्रभारी प्रधानाध्यापक ने उनसे झंडा पकड़ने के लिए कहा और कैंची से उसकी कटिंग की। उसके बाद उससे कुर्सी पोंछने को कहा। बच्चों ने कहा कि झंडा सिर्फ हल्का फटा हुआ था। जब झंडे को कैंची से काटा जा रहा था तो हम कुछ बोल भी नहीं पाए। इधर राष्ट्रीय ध्वज के अपमान की सूचना मिलने के साथ ही आक्रोशित लोगों की भीड़ लगातार स्कूल के बाहर बढ़ने लगी थी।

पार्षद ने कहा राष्ट्र ध्वज का अपमान बर्दाश्त नहीं

मामले को बिगड़ते देख पार्षद ने गुस्साए लोगों से कहा कि राष्ट्रीय ध्वज का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इस पर कानूनी कार्रवाई होगी। आप लोग कानून हाथ में न लें और पुलिस-प्रशासन का सहयोग करें। इसके बाद पार्षद ने तत्काल पुलिस अधिकारियों से कहा कि वे आरोपी शिक्षक को लेकर थाना जाएं व आगे की कार्रवाई करें।

प्रभारी प्रधानाध्यापक पर कार्रवाइ की मांग

लोगों की काफी संख्या में भीड़ थाना में घंटों डटी रहीं। भाजपा मंडल अध्यक्ष राहूल पांडेय, प्रतीक सोनी, जगदीश अग्रवाल व अभाविप छात्र नेताओं ने भी थाना पहुंचकर कार्रवाई की मांग की। कहा कि राष्ट्रीय ध्वज का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। राष्ट्रीय ध्वज के अपमान मामले को जिला परिषद सदस्य ने गंभीरता से लिया। पार्षद कर्ण सिंह ने घाटशिला के थाना प्रभारी ( Police Station Incharge) शंभू गुप्ता को लिखित आवेदन देकर प्रभारी प्रधानाध्यापक पर कार्रवाई की मांग की।

दोषी पाए जाने पर पद से हटाए गए प्रधानाध्‍यापक

प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी सुबोध कुमार राय ने प्रारंभिक जांच में प्रधानाध्यापक के दोषी पाए जाने पर उन्हें तत्काल पद से हटाते हुए वरीय शिक्षिका मीना कुमार यादव को प्रभारी प्रधानाध्यापिका का प्रभार सौंपा। बीईईओ ने स्कूल के सभी शिक्षिकाओं से भी मामले की जानकारी लिखित में देने का निर्देश दिया। वहीं, आरोपी प्रधानाध्यापक से भी लिखित पक्ष मांगा। बीईईओ ने कहा कि जांच के बाद रिपोर्ट डीएसई को प्रस्तुत किया जाएगा।

थाना प्रभारी, घाटशिला शंभू गुप्ता ने कहा, मामले की शिकायत के आधार पर जांच की जा रही है। राष्ट्रीय ध्वज के अपमान मामले में कानूनी प्रावधान के अनुसार कार्रवाई होगी। इसकी जानकारी वरीय अधिकारियों को भी दी गई है। 

हिंदू बन नाबालिग से शादी करने पहुंचा अधेड़ मुस्लिम, बजरंग दल ने खोली पोल, ठगी के मामले में जा चुका है जेल

Edited By: Arijita Sen

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट