जमशेदपुर [अरविंद श्रीवास्तव]। न्युवोको विस्टास कॉर्प कंपनी झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले के जोजोबेड़ा सीमेंट प्लांट में तीस मेगावाट बिजली का उत्पादन भी करेगी। सीमेंट के साथ-साथ बिजली उत्पादन की झारखंड में पहली बार कवायद हो रही है। अगले वर्ष से बिजली उत्पादन शुरू हो जाएगा। 20 महीने के भीतर इस प्रोजेक्ट पूरा कर लेने का लक्ष्य है। इस पर 163 करोड़ रुपये खर्च आएंगे।

न्यूवोको का पूरा क्षेत्रफल 123 एकड़ का है। इसमें 6.7 एकड़ जमीन पर बिजली का प्लांट लगेगा। जनसुनवाई के बाद सरकारी विभागों से अब मंजूरी लेने का काम तेजी से चल रहा है। संभव है की जल्द कंपनी को अनापत्ति प्रमाण-पत्र मिल जाएगा। चंद माह बाद निर्माण भी शुरू हो जाएगा। इस प्रोजेक्ट के शुरू होने से स्थानीय लोगों को भी रोजगार मिलेगा। कंपनी सीमेंट उत्पादन में बिजली खपत के बाद शेष व्यवसायिक दर पर जुस्को को बेच देगी। इससे कंपनी को मुनाफे के साथ ऊर्जा के क्षेत्र में किसी पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा।

कंपनी स्थापित करने के लिए पर्याप्त साधन

कंपनी स्थापित करने के लिए यहां भूमि या पूंजी आड़े नहीं आएगी। कुशल व दक्ष मजदूरों की कमी नहीं होगी। कच्चा माल भी आसानी से मिल जाएगा। सीमेंट निर्माण के लिए पहले से ही कोयला मंगाया जाता था। अब केवल इसकी मात्रा बढ़ाने की जरूरत पड़ेगी। जुस्को ने भी पर्याप्त मात्रा में पानी देने का वादा कर रखा है।

ऐसे स्थापित हुई कंपनी

वर्ष 1993 में टाटा स्टील ने जोजोबेड़ा में सीमेंट प्लांट की स्थापना की थी। वर्ष 1999 में फ्रांस की लाफार्ज इंडिया लिमिटेड ने इसका अधिग्रहण कर लिया। इसके बाद वर्ष 2017 में भारत की कंपनी न्युवोको विस्टास कॉर्प ने इसे लाफार्ज से खरीद लिया है। यह पहला मौका होगा जब सीमेंट प्लांट में बिजली उत्पादन की परिकल्पना की गई है। अभी तक किसी सीमेंट कंपनी की इकाई ने अपने परिसर में पावर प्लांट लगाने की बात भी नहीं सोची है।

ये कहते प्लांट हेड

कंपनी से निकलने वाले फ्लाइ एश को सीमेंट निर्माण में यूज किया जाएगा। नया पावर संयंत्र अत्याधुनिक होगा। नाममात्र का प्रदूषण नहीं होगा। कंपनी के अंदर शून्य वाटर डिस्चार्ज होता है।

- मनोज अग्रवाल, प्लांट हेड, न्युवोको विस्टास कॉर्प कंपनी 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस