जमशेदपुर, जासं। कोरोना महामारी की वजह से दो वर्ष के अंतराल पर हो रही दुर्गापूजा से शहर की सड़कों पर काफी भीड़ है। पूजा पंडालों में उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए जिला प्रशासन अलर्ट मोड पर है। पूर्वी सिंहभूम जिला की उपायुक्त (डिप्टी कमिश्नर) विजया जाधव व वरीय पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) प्रभात कुमार ने महाअष्टमी की देर रात 02.30 बजे तक सिटी एसपी के. विजय शंकर, एसडीएम धालभूम संदीप कुमार मीणा (आइएएस), अपर जिला दंडाधिकारी (एडीएम) नंदकिशोर लाल, अपर उपायुक्त (एडीसी), जिला परिवहन पदाधिकाारी (डीटीओ) दिनेश रंजन समेत अन्य सभी वरीय व सुपर जोनल-जोनल पदाधिकारी के साथ सड़कों पर डटी रहीं। इस दौरान प्रमुख चौक-चौराहों में जाम की समस्या नहीं रहे, पंडालों, संवेदनशील, अति संवेदनशील क्षेत्रों में गश्त को लेकर जरूरी दिशा-निर्देश देती रहीं।

जिले के वरीय पदाधिकारियों को सड़क पर उतरा देख विधि-व्यवस्था को चुनौती देने वाले असामाजिक तत्वों, नशेड़ियों और तेज गति से वाहन चलाने वालों में दहशत का माहौल देखा गया। साकची चौक पर देर रात करीब 12.30 बजे से 01.30 बजे तक चलाए गए जांच अभियान में 100 से ज्यादा दोपहिया वाहन जब्त किए गए। कई वाहनों में साइलेंसर मोडिफाई किए गए थे, जिसमें बुलेट की संख्या ज्यादा थी। वहीं ड्रंक एंड ड्राइव करने वालों का ब्रेथ एनालाइजर से जांच कर कार्रवाई की गई। वहीं जिले के वरीय पदाधिकारियों को सड़क पर उतरा देख आमजनों ने भी सुरक्षा महसूस करते हुए मेला भ्रमण का आनंद लिया तथा इस बात को लेकर खुशी भी जाहिर की कि उन्हें पूरी तरह से सुरक्षित माहौल मिल रहा है। इसके लिए जिला उपायुक्त, वरीय पुलिस अधीक्षक समेत सभी वरीय पदाधिकारियों का भी आभार जताते दिखे।

क्राइम कंट्रोल रूम में सीसीटीवी से उपायुक्त ने देखा शहर का हाल

जिला उपायुक्त विजया जाधव ने साकची थाना परिसर स्थित क्राइम कंट्रोल रूम (सीसीआर) से भी शहर भर के अलावा विभिन्न पूजा पंडालों में लगाए गए सीसीटीवी से विधि-व्यवस्था संधारण पर नजर बनाए रखा। यातायात व्यवस्था की मोनिटरिंग कर मौके से पदाधिकारी को जरूरी दिशा-निर्देश दिए। कुछ मुख्य सड़कों पर ठेला-खोमचा के कारण जाम होने की सूचना प्राप्त होने पर तत्काल वरीय पदाधिकारियों को एक्शन लेने का निर्देश दिया। इस मौके पर जिले के अपर उपायुक्त सौरभ सिन्हा व अपर जिला दंडाधिकारी नंदकिशोर लाल भी कंट्रोल रूम में मौजूद थे।

उपायुक्त द्वारा नवमी व दशमी के मेला में लोगों की भीड़ को देखते हुए विधि-व्यवस्था के संधारण का पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए गए हैं। इस कार्य में आम जनों से भी सहयोग की अपेक्षा की गई है। मंदिर में बैरिकेडिंग, मजिस्ट्रेट व भारी संख्या में पुरुष बल व महिला बल की तैनाती है। लोगों से लाइन में रहकर पूजा पंडालों में दर्शन करने की अपील है। पंडालों से भीड़ पूरी तरह से खत्म होने के बाद ही प्रतिनियुक्त बल को स्थल छोड़ने का निर्देश है।

Edited By: Uttamnath Pathak

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट