Move to Jagran APP

Jharkhand Crime News: पति ने दिखाई हैवानियत! गर्भवती पत्नी को जिंदा जलाया, बचाने आई बहन भी झुलसी

गोड्डा के पोड़ैयाहाट थाना क्षेत्र के अमुवार-दिकवानी गांव में गर्भवती पत्नी को जिंदा जलाने का मामला सामने आया है और इस घटना में महिला की बहन के झुलसने की भी खबर सामने आई है। इस मामले बताया गया है कि दोनों सगी बहनें एक साथ सोई हुई थीं और इस दौरान चोरी छिपे ससुराल पहुंचकर विकास बगवै नामक युवक ने इस कृत्य को अंजाम दे दिया।

By Jagran News Edited By: Shoyeb Ahmed Sun, 19 May 2024 05:29 PM (IST)
गोड्डा में गर्भवती पत्नी को जिंदा जलाया (सांकेतिक तस्वीर)

संवाद सहयोगी, पोड़ैयाहाट (गोड्डा)। गोड्डा के पोड़ैयाहाट थाना क्षेत्र के अमुवार-दिकवानी गांव में गर्भवती पत्नी को जिंदा जला दिया गया है। वहीं इस घटना में साली भी झुलस गई है।

बताया दें कि दो सगी बहनें एक साथ सोई हुई थी। तभी चोरी छिपे ससुराल पहुंचकर विकास बगवै नामक युवक ने इस कृत्य को अंजाम दिया है। मृतका के पिता के बयान पर पोड़ैयाहाट थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

आठ माह की गर्भवती थी महिला

जिंदा जली महिला आठ माह की गर्भवती निशा देवी थी। उसकी मौत मौके पर ही झुलस कर हो गई जबकि 14 वर्षीय उनकी बहन पायल कुमारी गंभीर स्थिति में गोड्डा सदर अस्पताल में जीवन और मौत के बीच झूल रही है।

स्वजनों ने उक्त घटना के लिए दामाद विकास बगवै पर पेट्रोल छिड़क कर जिंदा जलाने का गंभीर आरोप लगाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। विकास बगवै फरार है।

आरोपित बिहार के बांका जिले के बौंसी प्रखंड के फंसिया गांव का रहने वाला है। अमुवार दिकवानी गांव में प्रफुल्ल कापरी के घर में उक्त हृदय विदारक घटना से पूरा गांव मर्माहत है।

ऐसे हुआ हादसा

प्रफुल्ल कापरी की बड़ी बेटी 23 वर्षीय निशा कुमारी जो आठ माह की गर्भवती थी, अपनी छोटी बहन 14 वर्षीय पायल कुमारी के साथ शनिवार की रात सोई हुई थी। आधी रात को इस घटना का अंजाम दिया गया है।

मृतका के पिता प्रफुल्ल कापरी ने थाना में दिए आवेदन में कहा है कि उसके दामाद विकास बगवै ने इस घटना को अंजाम दिया है। उसने पेट्रोल छिड़क कर उनकी दोनों बेटियों को जिंदा जला दिया है।

पिता ने बताया कि दामाद से कुछ दिनों से विवाद चल रहा था। दामाद ने बुरे परिणाम की धमकी भी दी थी। कहा कि निशा को विदा नहीं करने पर विकास बगवै ने गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी थी। निशा कुमारी आठ माह की गर्भवती थी।

ससुराल भेजने की थी योजना

प्रसव के बाद ससुराल भेजने की योजना थी लेकिन बीच में ही इस कृत्य से पूरा परिवार स्तब्ध है। उन्होंने आरोप लगाया कि पूर्व में भी ससुराल में उनकी बेटी के साथ विकास बगवै मारपीट किया करता था, जिसको लेकर थाना में भी कई बार इसकी शिकायत दर्ज कराई गई थी और सुलह नामा भी हुआ था।

उन्होंने कहा कि दामाद शराब पीकर मारपीट से बाज नहीं आ रहा था। कहा कि शनिवार की रात दोनों बहन एक साथ सोई थी। कमरे में का दरवाजा खुला था। अचानक रात में आग लगने की घटना के बाद हल्ला हुआ तो लोग जमा हुए।

जिंदा जलाने का लगाया आरोप

छोटी बेटी किसी तरह निकल गई लेकिन बड़ी बेटी आग की लपटों से घिर गई और वहीं पर झुलस कर मर गई। पोड़ैयाहाट के थाना प्रभारी विपिन कुमार यादव ने कहा कि अमुवार-दिकवानी गांव में गर्भवती को जिंदा जला दिया गया है।

इसमें एक किशोरी बुरी तरह घायल है। मृतका के पिता के बयान पर मामला दर्ज की गई है। आरोपित की गिरफ्तारी के लिए जगह जगह छापेमारी की जा रही है। शीघ्र उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

ये भी पढ़ें-

Jharkhand News: महिला बंदी के वायरल पत्र से कटघरे में खूंटी जेल प्रबंधन, क्लर्क पर लगाया है यौन शोषण व गर्भपात का आरोप

Jharkhand Crime News: जादू-टोना के शक में अधेड़ को उतारा मौत के घाट, ग्रामीणों ने हत्या कर शव को पेड़ से लटकाया