Move to Jagran APP

गोड्डा-पीरपैंती रेल लाइन के लिए 507.57 एकड़ जमीन की अधिग्रहण प्रक्रिया शुरू, प्रोजेक्ट पर खर्च होंगे 1500 करोड़

गोड्डा-पीरपैंती रेल लाइन के लिए 507.57 एकड़ जमीन की अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। महागामा से लेकर पीरपैंती तक रेल परियोजना के लिए भूमि का अधिग्रहण किया जाएगा। गोड्डा से महागामा 28 KM तक भूमि का अधिग्रहण पूरा हो चुका है। अब मेहरमा व ठाकुरगंगटी अंचल में जमीन की उपलब्धता सुनिश्चत कराने की तैयारी है। इस प्रोजेक्ट पर 1500 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

By Vidhu Vinod Edited By: Rajat Mourya Thu, 11 Jul 2024 08:07 AM (IST)
गोड्डा-पीरपैंती रेल लाइन के लिए 507.57 एकड़ जमीन की अधिग्रहण प्रक्रिया शुरू (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जागरण संवाददाता, गोड्डा। Godda Pirpainti Railway Line Project गोड्डा-पीरपैंती नई रेललाइन के लिए पूर्व रेलवे की ओर से गोड्डा से मेहरमा तक कुल 507.57 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा। पूर्व रेलवे के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी पीके शर्मा की ओर से इसकी लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है।

बता दें कि गोड्डा से महागामा अंचल तक 28 किमी लंबी रेललाइन के लिए पूर्व में ही जमीन अधिग्रहण का काम पूरा कर लिया गया है।

अब उसके बाद जिले के मेहरमा और ठाकुरगंगटी अंचल के हरिपुर, लीलातरी , गोवर्धनपुर, मेहरमा, करारचकला, मधुपुर, लोहकित्ता, शंकरपुर, मथुरा, प्रतापपुर, मेघनाद, शहरपुर, कालीदह, बलिया, कश्मीराचक, द्वारिकाकित्ता, कमरगांव, खुटहरी, गोविंदपुर, गोपलाडीह, दरियाचक, घाट दरियाचक, अमजोरा-पिरोजपुर, पत्तीचक, इटहरी आदि मौजा की जमीन प्रस्तावित रेललाइन के एलाइनमेंट के अनुसार अधिग्रहित करने की प्रक्रिया शुरू की गई है।

68 किमी लंबी रेल परियोजना

गोड्डा-पीरपैंती के बीच 68 किलोमीटर लंबी रेल परियोजना में रेल मंत्रालय की ओर से ही पूरी राशि दी जाएगी। उक्त परियोजना में 1500 करोड़ रुयये खर्च होंगे।

बटेश्वरस्थान- नवगछिया रेल पुल से जुड़ेगी

यह रेल परियोजना भागलपुर के बटेश्वरस्थान- नवगछिया रेल पुल से जुड़ेगी। इससे बाबा नगरी देवघर, गोड्डा और पीरपैंती के साथ-साथ उत्तर बिहार के कई जिलों के साथ रेल संपर्क जुड़ जायेगा। गोड्डा से पीरपैंती के बीच पहले फेज में गोड्डा से महागामा तक 28 किमी रेल लाइन के लिए 468 करोड़ रुपये का टेंडर भी निकाल दिया गया है।

दो वर्ष में पूरा करने का लक्ष्य

उक्त रेल लाइन में विद्युतीकरण का काम भी साथ साथ होगा। इसे दो साल में काम पूरा करने का लक्ष्य है। पूर्व रेलवे की ओर से अब महागामा से पीरपैंती तक बिहार व झारखंड दोनों राज्यों में भूमि अधिग्रहण का काम शुरू किया जाएगा। जसीडीह से पीरपैंती के बीच 127 किमी लंबी उक्त परियोजना में 68 किमी तक गोड्डा से पीरपैंती तक नई रेल लाइन बिछेगी।

रेल मंत्रालय परियोजना पर शत प्रतिशत राशि खर्च करेगा : सांसद

गोड्डा सांसद डॉ. निशिकांत दुबे ने बताया कि गोड्डा-पीरपैंती के बीच 68 किलोमीटर लंबी रेल परियोजना के लिए 1500 करोड़ रुपये की डीपीआर को स्वीकृति दी गई है। पूरी राशि रेल मंत्रालय दे रहा है। परियोजना को लेकर पूर्व में राज्य सरकार ने पैसा देने से इनकार कर दिया था। इसके बाद रेल मंत्रालय ने इस पर शत प्रतिशत राशि खर्च करने का निर्णय लिया।

उन्होंने कहा कि परियोजना के लिए रैयतों को मुआवजा देने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। गोड्डा से महागामा तक के लिए टेंडर हो चुका है। दो सालों में काम पूरा किया जाएगा। सांसद ने कहा कि गोड्डा-पीरपैंती रेल परियोजना उनका चुनावी वादा भी था, जो अगले दाे साल में पूरा हो जाएगा।

ये भी पढ़ें- Jharkhand News: कनहर बराज मामले में मुख्य सचिव सहित कई अधिकारी तलब, HC ने पूछा- अब तक क्यों पूरा नहीं हुआ निर्माण

ये भी पढ़ें- Patna Tatanagar Vande Bharat: पटना से टाटानगर के बीच जल्द दौड़ेगी वंदे भारत, 6 से 7 घंटे में पूरा होगा सफर