संवाद सहयोगी, हंसडीहा ( दुमका): भागलपुर से हावड़ा वाया दुमका के बीच कविगुरु एक्सप्रेस ट्रेन को 10 नवंबर से परिचालन संभव है। यह ट्रेन 12 कोच की होगी। इसकी सभी बोगियां सामान्य श्रेणी की होगी। नई ट्रेन के परिचालन के लिए रूट के सभी स्टेशनों में विभागीय तैयारी की जा रही है। हालांकि इस संबंध में रेलवे ने आधिकारिक जानकारी नहीं दी है।

मगर सूत्रों की मानें तो कविगुरु एक्सप्रेस ट्रेन का रखरखाव हावड़ा जंक्शन पर होगा और भागलपुर जंक्शन में सिर्फ कोच की सफाई व पानी की व्यवस्था की जाएगी। रेलवे के विभागीय डाटाबेस एवं इलेक्ट्रॉनिक टिकट बु¨कग प्रणाली में स्टेशनों या हॉल्ट का नाम फी¨डग करने के साथ कराया के निर्धारण को लेकर तेजी से काम चल रहा है। यह ट्रेन हावड़ा से सुबह 10.40 बजे खुलेगी और दुमका शाम 5.00 व भागलपुर रात 9.20 बजे रात में पहुंचेगी। भागलपुर से यही ट्रेन सुबह 05.45 बजे हावड़ा के लिए खुलेगी जो दुमका सुबह 10.45 एवं हावड़ा शाम 5.15 बजे पहुंचेगी। दुमका से हावड़ा तक का सफर यह ट्रेन छह घंटे तीस मिनट में तय करेगी। अभी दुमका या हंसडीहा से हावड़ा के लिए एक भी डायरेक्ट ट्रेन नहीं है। ऐसे में इस ट्रेन के परिचालन से यात्रियों को काफी राहत मिलेगी।

दुमका से भागलपुर जाने के लिए फिलहाल सुबह में एक पैसेंजर ट्रेन चल रही है कविगुरु एक्सप्रेस ट्रेन का परिचालन शुरू हो जाने के बाद दुमका से शाम को भी भागलपुर के लिए ट्रेन उपलब्ध हो जाएगी।

-----------------

कविगुरु एक्सप्रेस की समय सारिणी जारी

हावडा-भागलुपर कविगुरु एक्सप्रेस का विस्तार भागलपुर तक होने के बाद यह नए समय पर चलेगी। जारी टाइम टेबल के अनुसार 13015 अप कविगुरु एक्सप्रेस का समय हावडा जंक्शन से सुबह 10.40, बोलपुर शांति निकेतन में दोपहर 12.40, रामपुरहाट में दोपहर 15.05, दुमका में शाम 17.00, हंसडीहा में 18.10 व भागलपुर जंक्शन रात्रि 21.20 बजे पहुंचेगी। वहीं 13016 डाउन कविगुरु एक्सप्रेस भागलपुर जंक्शन से सुबह 05.45, हंसडीहा में सुबह 08.20, दुमका में सुबह 10.45, रामपुरहाट में दोपहर 12.30, बोलपुर शांति निकेतन में दोपहर 12.08 एवं हावड़ा जंक्शन रात्रि 17.15 बजे पहुंचेगी। इस ट्रेन का परिचालन सात दिन होगा। प्रांतिक, सैंथिया, पिनरगड़यिा, शिकारीपाड़ा, बारापलासी, मंदारहिल एवं बाराहाट में ठहराव होगा।

.....................

तीन राज्यों के तीन तीर्थस्थलों की राह होगी आसान

इस ट्रेन से तीन प्रमुख तीर्थस्थलों की यात्रा करने वाले पर्यटकों को भी यात्रा करने में आसानी होगी। भागलपुर से हंसडीहा के बीच मंदारहिल स्टेशन के पास बौंसी बिहार राज्य में स्थित एक महत्वपूर्ण जैन तीर्थस्थल है। हंसडीहा से दुमका के बीच नोनीहाट स्टेशन बासुकीनाथ धाम जाने वाले तीर्थयात्रियों की राह आसान करेगी। दुमका से हावड़ा के बीच रामपुरहाट जंक्शन तारापीठ जाने वाले तीर्थयात्रियों के लिए महत्वपूर्ण स्टेशन है। इस रूट पर ही कई और प्रसिद्ध और दर्शनीय मंदिर व पर्यटक स्थल हैं।

.............

हावड़ा-सूरी एक्सप्रेस का विस्तार जल्द

कोलकाता जोन दुमका के रास्ते भागलपुर के लिए एक और ट्रेन चलने की संभावना है। बताया जा रहा है कि हावड़ा-सूरी एक्सप्रेस ट्रेन का विस्तार भागलपुर तक किया जाना है। नए साल में इस ट्रेन की सौगात लोगों को मिल सकती है। कोलकाता जोन ने संभावित समय सारिणी भी भागलपुर रेलवे ऑफिस को भेज दिया है। समय सारिणी पर यार्ड और ऑपरे¨टग विभाग से फिजिबिलिटि रिपोर्ट देने को कहा गया था। रेलवे सूत्रों के अनुसार रिपोर्ट जोनल मुख्यालय को भेजा जा चुका है। अब जोनल मुख्यालय को तय करना है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस