Move to Jagran APP

दुमका के चुनावी रण में किसके हाथ लगेगी बाजी? पक्ष-विपक्ष दोनों को चाहिए दिशोम गुरु शिबू सोरेन का आशीर्वाद

लोकसभा चुनाव में दुमका सीट पर झामुमो और भाजपा ने अपने उम्मीदवारों का एलान कर दिया है। एक तरफ भाजपा से यहां शिबू सोरेन की बड़ी बहू सीता सोरेन हैं वहीं झामुमो ने नलिन सोरेन को अपना उम्‍मीदवार बनाया है। दुमका को दिशोम गुरु शिबू सोरेन का गढ़ माना जाता है। ऐसे में इस पर फतेह हासिल करने के लिए दोनों को ही उनके आशीर्वाद की जरूरत पड़ेगी।

By Jagran News Edited By: Arijita Sen Published: Mon, 15 Apr 2024 09:04 AM (IST)Updated: Mon, 15 Apr 2024 09:34 AM (IST)
नलिन सोरेन, शिबू सोरेन और दुर्गा सोरेन की फाइल फोटो।

राजीव, दुमका। दुमका लोकसभा सीट पर चुनाव में शिबू सोरेन अहम फैक्टर हैं। यहां झामुमो के साथ ही भाजपा प्रत्याशी की जुबान पर भी शिबू सोरेन का नाम है। शिबू सोरेन के आंदोलन और संघर्ष की चर्चा दोनों पक्ष कर रहे हैं और उनके विरुद्ध बोलने का खतरा यहां कोई मोल नहीं ले रहा है।

सीता सोरेन लगातार साध रही हैं JMM पर निशाना

झामुमो छोड़कर भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहीं सीता सोरेन झामुमो पार्टी तथा अपने परिवार के अन्य सदस्यों की बुराई कर रही हैं। यह भी कह रही हैं कि उनके साथ परिवार में न्याय नहीं हुआ।

अपने पति स्व. दुर्गा सोरेन के संघर्ष की भी वह याद दिलाती हैं और यह कहती हैं कि दुर्गा सोरेन के निधन के बाद विरासत उन्हें मिलनी चाहिए थी, जो नहीं मिली। सीता के इन आरोपों का अलग-अलग समय में बसंत सोरेन, कल्पना सोरेन व झामुमो के अन्य नेता जवाब भी दे चुके हैं।

पीएम मोदी की नीतियों की कायल हूं: सीता सोरेन

इन सबके बीच सीता सोरेन यह भी कहती हैं कि वह गुरुजी शिबू सोरेन की उत्तराधिकारी हैं और गुरुजी का आशीर्वाद उन्हें प्राप्त है।

सीता कहती हैं कि भाजपा में आकर न सिर्फ उन्हें अच्छा लग रहा है] बल्कि नरेंद्र मोदी के विकास व महिलाओं के प्रति सम्मान की नीतियों की वह कायल हैं।

इसी क्रम में सीता यह कहना नहीं भूलती हैं कि बाबा शिबू सोरेन उनके लिए सदैव आदरणीय हैं। कहा कि मुझे व मेरी बेटियों को हमेशा बाबा का आशीर्वाद मिला है। दुमका में इस बार भी भाजपा और झामुमो के बीच सीधा झकझूमर तय है।

भाजपा प्रत्याशी सीता सोरेन मोदी की गारंटी के साथ ही शिबू के आशीर्वाद की भी बात कर अपनी चुनावी नैया पार करने की रणनीति पर चल रही हैं, ताकि गुरुजी को वोट करने वाले लोग भी उन्हें वोट दें।

नलिन ने दुमका सीट पर किया जीत का दावा

उधर, झामुमो प्रत्याशी नलिन सोरेन का साफ कहना है कि वह गुरुजी का आशीर्वाद लेकर दंगल में कूदे हैं और दुमका सीट जीत कर उन्हें गुरु दक्षिणा देंगे। इधर, इन दिनों दोनों प्रत्याशियों ने सोशल मीडिया पर भी अलग-अलग तस्वीर जारी कर मतदाताओं को रिझा रहे हैं।

तीन दिनों पूर्व 11 अप्रैल को भाजपा प्रत्याशी सीता सोरेन की बेटी जयश्री सोरेन ने इंटरनेट मीडिया पर अपने दादा शिबू सोरेन और दादी रूपी सोरेन किस्कू के साथ एक फोटो पोस्ट कर यह लिखा है कि भले ही बाकी सभी ने हमें दबाने की कोशिश की है..। मैं जानती हूं आपका आशीर्वाद हमेशा मेरे साथ रहेगा। आपको बूढ़ा होते देखना हृदय विदारक है। आप दोनों मेरी ढाल, मेरी ताकत और मेरा सब कुछ हो। आपके विचार हमेशा मेरे साथ जीवित रहेंगे।

इतना ही नहीं जयश्री अपने हाथ में एक पुस्तक भी ले रखी है जिसका नाम दिसोम गुरु शिबू सोरेन है। इस तस्वीर में शिबू सोरेन व रूपी सोरेन जयश्री के माथे पर हाथ रखकर आशीर्वाद देते हुए दिख रहे हैं। उधर, शिबू सोरेन की एक दूसरी तस्वीर भी इंटरनेट मीडिया पर वायरल है, जिसमें गुरुजी दुमका के झामुमो प्रत्याशी नलिन सोरेन और गिरिडीह के प्रत्याशी मथुरा महतो के माथे पर हाथ रखकर आशीर्वाद दे रहे हैं।

झामुमो के नलिन सोरेन का कहना है कि न तो भाजपा के प्रपंच का असर पड़ने वाला है और नहीं सीता सोरेन के झामुमो छोड़ने को कोई असर है। नलिन ने कहा कि जनता भाजपा की साजिश को समझ चुकी और चार तारीख को इसका परिणाम भी सब देखेंगे। 

ये भी पढ़ें:

'गोदी मीडिया से आप क्‍या समझते हैं...?' परीक्षा में पूछे गए सवाल से बच्‍चों का चकराया सिर, इस अंदाज में दिया रोचक जवाब

Champai Soren: बाल-बाल बचे चंपई सोरेन, सिर पर तोरण द्वार गिरने से लगी चोट; बैठक कर निकल रहे थे बाहर


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.