जागरण संवाददाता धनबाद। गिरिडीह से रांची के लिए भविष्य में इंटरसिटी एक्सप्रेस चलाने की संभावना तलाशी जा सकती है। इस ट्रेन के चलने से गिरिडीह से रांची के बीच बड़ी आबादी को रेल सुविधा मिल जाएगी। केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री और कोडरमा की सांसद अन्नपूर्णा देवी ने गिरिडीह से रांची के लिए इंटरसिटी एक्सप्रेस चलाने का पत्र रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को दिया है। गिरिडीह से रांची के बीच कोडरमा व हजारीबाग टाउन वाले रूट से इंटरसिटी एक्सप्रेस को चलाने का सुझाव दिया गया है। अगर रेलवे ग्रीन सिग्नल दे देती है तो गिरिडीह के साथ-साथ कोडरमा व हजारीबाग टाउन के यात्रियों के लिए भी रांची पहुंचने के लिए नया विकल्प मिल जाएगा।

क्या है केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री के पत्र में

केंद्रीय राज्य मंत्री ने रेल मंत्री को लिखे गए पत्र में जमुआ विधायक सह झारखंड विधनसभा सदाचार समिति के सभापति केदार हाजरा एवं गिरिडीह जिला चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष निर्मल झुनझुनवाला की ओर से दिए गए पत्र का हवाला देते हुए कहा है कि झारखंड राज्य का निर्माण हुए 21 वर्ष बीत जाने के बाद भी गिरिडीह वासियों को रांची जाने के लिए सीधी रेल सेवा की सुविधा अभी तक नहीं मिली है। गिरिडीह में स्टील,अभ्रक तथा अन्य खनिज उत्पादों का प्रमुख व्यवसायिक केंद्र है।भारत सरकार के कई प्रमुख उपक्रम सेंट्रल कोलफील्ड लिमिटेड वगैरह भी यहां है।

जैन धर्मावलंबियों का विश्व प्रसिद्ध तीर्थ स्थल

पारसनाथ का मंदिर भी गिरिडीह जिले में ही आता है। जहां हर साल देश-विदेश से हजारों की संख्या में तीर्थयात्री पहुंचते हैं। रेल सुविधा ना होने की वजह से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में गिरिडीह से रांची के लिए इंटरसिटी एक्सप्रेस की नितांत आवश्यकता है। उन्होंने कहा है कि जनहित में यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखकर आवश्यक कार्रवाई के लिए संबंधित को निर्देश दें।

Edited By: Mritunjay