धनबाद : ठंडे बस्ते में पड़े धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन के डायवर्जन को लेकर फिर सुगबुगाहट शुरू हो गई है। शुक्रवार को उपायुक्त संदीप सिंह ने इस मामले में राइट्स कोलकाता की टीम के साथ अहम बैठक की। उन्होंने रेल लाइन की शिफ्टिग के लिए डीपीआर की प्रगति से जुड़ी जानकारी मांगी। बताया गया कि राइट्स ने डीसी लाइन के डायवर्जन को लेकर साइट सर्वे शुरू कर दिया है। मतारी से तेलो के बीच नई रेल लाइन बिछाने को लेकर सर्वे किया जा रहा है। यहीं से होकर नई लाइन बिछेगी। इससे धनबाद से चंद्रपुरा जानेवाली ट्रेनें गोमो गये बगैर ही मतारी से तेलो पहुंच जाएगी। गौरतलब है कि डीसी लाइन पर काफी दिनों तक ट्रेनों का परिचालन बंद रखा गया था।

डीपीआर तक झरिया मास्टर प्लान का हिस्सा, निर्माण रेलवे कराएगी

डीसी लाइन के डायवर्जन का डीपीआर बना रही राइट्स को 18 महीने का एक्सटेंशन दिया गया है। डीपीआर तक की सारी प्रक्रिया झरिया मास्टर प्लान का हिस्सा है। डीपीआर तैयार होने के बाद रेल लाइन निर्माण रेलवे ही कराएगी।

पहले भी इसी रूट से बना था डायवर्जन का प्लान

डीसी लाइन के डायवर्जन का प्लान पहले भी मतारी से तेलो के बीच ही बना था। बाद में निचितपुर से टुंडू होकर रेल लाइन बिछाने की संभावना तलाशी गई। पर तकनीकी कारणों से योजना असफल रही। अब एक बार फिर मतारी से तेलो के बीच भी नई लाइन के लिए साइट सर्वे शुरू हुआ है।

13 किमी बढ़ जाएगी धनबाद से चंद्रपुरा की दूरी

मौजूदा धनबाद-चंद्रपुरा रेललाइन की लंबाई 34 किमी है। मतारी-तेलो होकर बिछने वाली नई रेल लाइन से यह दूरी 13 किमी बढ़ कर 47 किमी हो जाएगी। हालांकि अभी भी इस रूट से धनबाद से चंद्रपुरा जाने का विकल्प मौजूद है। पर गोमो होकर चंद्रपुरा जाने के लिए गोमो में इंजन बदलने की समस्या रहती है। नये रूट से बिना इंजन बदले ट्रेनें चल सकेंगी।

Edited By: Jagran