जागरण संवाददाता, धनबाद। भारत के स्टार एथलीट जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलिंपिक में 87.58 मीटर भाला फेंककर इतिहास रच दिया है। चोपड़ा ने 121 साल के ओलिंपिक के इतिहास में पहली बार भारत को एथलेटिक्स में गोल्ड मेडल दिलाया है। वह फील्ड एंड ट्रैक में गोल्ड मेडल जीतने वाले पहले और व्यक्तिगत स्पर्धा में स्वर्ण हासिल करने वाले दूसरे भारतीय हैं। उनसे पहले निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने गोल्ड जीता था। नीरज की जीत की खुशी में पूरा भारत गाैरवान्वित है। इस मामले में झारखंड भी पीछे नहीं है। उन्हें बधाई देने के लिए इंटरनेट मीडिया पर तांता लगा हुआ है। राज्य की राजनीति, खेल और प्रशासनिक से लेकर हर क्षेत्र के लोग बधाई दे रहे हैं। दामोदर घाटी निगम ( DVC) ने भी ट्वीट कर बधाई दी है।  

कोरोना भी नहीं रोक सका नीरज के बुलंद हाैसले को

नीरज भारतीय सेना से हैं। उनकी ओलिंपिक की तैयारियां 2019 में कोहनी की चोट और फिर कोविड-19 महामारी के कारण प्रभावित हुई। इसके बावजूद उनके हाैसले बुलंद रहे। उन्होंने देश और अपने प्रशंसकों को बिल्कुल निराश नहीं किया। ओलिंपिक में अपनी पहली ही थ्रो पर फाइनल में जगह बना ली। वह इससे पहले सिर्फ तीन अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले पाए थे। इसमें कुआर्टेन खेल ही विश्व स्तरीय प्रतियोगिता थी जहां चोपड़ा तीसरे स्थान पर रहे थे जबकि वेटेर ने खिताब जीता था।

मनरेगा आयुक्त राजेश्वरी बी ने अलग अंदाज में किया खुशी का इजहार

भारतीय प्रशासनिक सेवा की महिला अधिकारी झारखंड की मनरेगा आयुक्त राजेश्वरी बी ने भी नीरज की बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट कर टोक्यो ओलिंपिक में भारत के लिए गोल्ड मेडल जीतने को गाैरव का क्षण करार दिया है। 

धनबाद एथलेटिक्स संघ गदगद

धनबाद एथलेटिक्स संघ की अध्यक्ष किरण रानी ने कहा है कि 2020ओलिंपिक में नीरज चोपड़ा ने इतिहास रच दिया। उनकी इस उपलब्धि पर धनबाद एथलेटिक्स संघ की ओर से बहुत-बहुत बधाई। एथलेटिक्स स्पर्धा में एकल प्रतियोगिता में भारत का यह पहला गोल्ड मेडल है। इस गोल्ड मेडल से भारत एथलेटिक्स खेल में नई ऊर्जा का संचार हुआ है और आने वाला दिन में भारतीय पुरुष एवं महिला एथलेटिक्स के पति रुझान बढ़ेगा। विश्व में भारत का नाम रोशन होगा। बधाई देने वालों में संघ के धनबाद महासचिव बंधन टोपनो, जुबेर आलम, विवेक कुमार, सुनील मिश्रा, प्रवीण तिवारी, महादेव घोष, लखपति सिंह, असीम हाशमी, तारक नाथ दास शामिल हैं। 

 

Edited By: Mritunjay